केंद्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत की पुत्री का कोरोना से हुआ निधन

केंद्रीय सामाजिक न्याय व अधिकारिता मंत्री थावर चंद गहलोत की बेटी योगिता सोलंकी का सोमवार को हार्ट अटैक से निधन हो गया. वह कोरोना संक्रमित थीं और मध्य प्रदेश में इंदौर के मेदांता अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था. केंद्रीय मंत्री के दफ्तर ने बताया कि करीब 15 दिन पहले वह कोरोना संक्रमित पाई गईं थीं. केंद्रीय मंत्री के कार्यालय की ओर से जारी किए बयान के मुताबिक उनका निधन आज सुबह हार्ट अटैक की वजह से हुआ. डॉक्टरों के मुताबिक खून के थक्का बनने की वजह से पैरालिटिक अटैक आया.

90 प्रतिशत खराब हो चुके थे लंग्स

थावर चंद गहलोत के एक करीबी ने बताया कि योगिता की आरटी-पीसीआर रिपोर्ट निगेटिव आई थी लेकिन उनके अंदर कोरोना के लक्षण दिख रहे थे. योगिता का जब सीटी स्कैन किया गया तो पता लगा कि उनके फेफेड़े 90 प्रतिशत तक खराब हो चुके हैं. इसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया. योगिता की उम्र 44 साल थी. पहले उन्हें उज्जैन के एक अस्पताल में ले जाया गया क्योंकि उनका परिवार वहीं रहता है. लेकिन योगिता की हालत बिगड़ने के बाद उन्हें इंदौर शिफ्ट किया गया. योगिता खुद एक हाउसवाइफ थीं. उनके पति स्वास्थ विभाग में काम करते हैं। योगिता की एक 23 साल की बेटी और एक 20 साल का बेटा है.बीते शुक्रवार पीएम नरेंद्र मोदी की मंत्री परिषद के साथ की गई विशेष बैठक में हिस्सा लेने का बाद थावर चंद गहलोत भी उज्जैन चले गए थे.