लॉकडाउन में भी राजस्थान के 11 लाख श्रमिकों को मिला नरेगा के तहत रोजगार

The Fact India: कोरोना महामारी के चलते लगे लॉक डाउन से पूरे देश की अर्थव्यवस्था चरमरा गई है. उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट (SachinPilot) ने गुरुवार को नरेगा को लेकर कहा कि नरेगा में आज राजस्थान में करीब 11 लाख लोग कार्य कर रहे हैं आज पूरे देश में नरेगा में श्रमिको को रोजगार देने में राजस्थान का दूसरा स्थान आया है.

बिहार के छात्रों को वापस लाने के लिए पप्पू यादव ने कोटा भेजी अपनी 30 बसे

पायलट (SachinPilot) ने कहा कि लॉकडाउन में जो स्थिति बनी हैं उसमें लोगो को रोजगार कम है अर्थव्यवस्था चरमरा गयी हैं इस अर्थव्यवस्था को पुनर्जीवित करने के लिए नरेगा एक ऐसा स्रोत है जिससे ग्रामीण क्षेत्रों में रह रहे लोगो को आर्थिक मदद पहुंच सकते हैं. हमे खुशी है कि आज से दस दिन पहले नरेगा में जो श्रमिकों की संख्या 60 हजार थी वो 11 लाख तक पहुँच गयी.

सरकारी कर्मचारियों को बड़ी राहत, अप्रैल में नहीं होगी वेतन कटौती

डिप्टी सीएम ने कहा कि इसमें हमारे विभाग के तमाम कर्मचारियों ने, जनप्रतिनिधियों ने बहुत सहयोग किया है ग्रामीण क्षेत्रों में  80 प्रतिशत कार्य हो रहा है वो स्वतंत्र कार्य हो रहे हैं. लोग अपने खेतों में, घरों में काम कर रहे हैं उसका भुगतान उनको मिल रहा है और सोशल डिस्टेंसिन्ग मेंटेन करते हुए कार्य कर रहे हैं. नरेगा से बहुत ताकत और बल हमारे ग्रामीण परिवेश में रहने वाले लोगो को मिल रहा है हम उम्मीद करते हैं इस संख्या को आने वाले दिनों में और बढ़ायेगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.