गहरे आर्थिक संकट के बीच श्रीलंका के प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे ने दिया इस्तीफा

The Fact India: भारत के पड़ोसी देश श्रीलंका में गहरे आर्थिक संकट के बीच प्रधानमंत्री महिंदा राजपक्षे (Mahinda Rajapaksa) ने इस्तीफा दे दिया. इस्तीफे से ठीक पहले उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘श्रीलंका में भावनाओं का ज्वार उमड़ रहा है, ऐसे में मैं आम जनता से संयम बरतने और यह याद रखने की अपील करता हूं कि हिंसा से केवल हिंसा फैलेगी. आर्थिक संकट में हमें आर्थिक समाधान की जरूरत है जिसे यह प्रशासन हल करने के लिए प्रतिबद्ध है.’’

राजपक्षे का यह बयान ऐसे वक्त में आया है जब आर्थिक संकट के बीच बने हालात में हिंसा में कई लोग घायल हो गए. महिंदा राजपक्षे (Mahinda Rajapaksa) के समर्थकों ने उनके आधिकारिक आवास के पास एकत्रित हुए सरकार विरोधी प्रदर्शनकारियों पर हमला कर दिया जिसके बाद पुलिस को राजधानी में कर्फ्यू लगाना पड़ा.

बेटे पर लगे रेप के आरोपों पर पहली बार बोले जोशी- जहां सत्य होगा वहीं मैं रहूंगा

बता दें कि रविवार को ही उनके छोटे भाई और श्रीलंका के राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे ने श्रीलंका के आर्थिक हालात को लेकर हुई बैठक में उसने अपना पद छोड़ने को कहा था. उन्होंने कहा था कि देश में जारी राजनीतिक संकट के बीच उन्हें अपने पद से इस्तीफा दे देना चाहिए.

गौरतलब है कि आर्थिक संकट से जूझ रहे श्रीलंका में हालात इतने खराब हो चुके हैं कि लोग भुखमरी की कगार पर हैं. खाने-पीने की चीजों के दाम आसमान छू रहे हैं. लोग सरकार के खिलाफ सड़कों पर उतर गए हैं. मजदूर और व्यापारिक संगठनों ने सरकार के खिलाफ हड़ताल कर दी है. पिछले हफ्ते छात्रों ने सरकार के खिलाफ श्रीलंका की संसद में घुसने की कोशिश की थी.