उदयपुर में कांग्रेस लेगी ‘एक परिवार, एक टिकट’ का संकल्प, माकन ने दिए बड़े बदलाव के संकेत

The Fact India: झीलों की नगरी उदयपुर में आज से कांग्रेस के महाकुम्भ (Nav Sankalp) का आगाज हो गया है… कांग्रेस अध्यक्ष सोनिय गाँधी.. प्रियंका गांधी.. और राहुल गांधी समेत पार्टी के सभी दिग्गजों का मजमा मेवाड़ में लग चूका है.. नव संकल्प के जरिये कांग्रेस ने मिशन 2023 और 24 का आगाज कर दिया है. लिहाजा ऐसे में तीन तक कांग्रेस चिंतन मनन कर आगे की रणनीति तैयार करेगी. इसी बीच राजस्थान प्रदेश प्रभारी माकन ने चिंतन के एजेंडे को लेकर बड़े संकेत दिए हैं.

माकन ने कहा कि पार्टी (Nav Sankalp) के संगठन में अब परिवारवाद ख़त्म होगा. पार्टी कार्यकर्ता को अब और अधिक तवज्जो मिलेगी. संगठन में व्यापक बदलाव के लिये ये फ़ेसला क्रांतिकारी होगा. साथ ही माकन 1 परिवार से 1 टिकट देने के सवाल पर कहा कि यह फार्मूला लागू होगा.. .परिवार के दूसरे सदस्य को चुनाव लड़ने के लिए पहले 5 साल तक संगठन में करना होगा. माकन ने कहा कि पार्टी में अब किसी भी पद पर कोई 5 साल से ज्यादा नहीं रहेगा,रहेगा तो उसे 3 साल बिना किसी पद के रहना होगा.

किरोड़ी के उदयपुर प्रकरण पर वसुंधरा-पूनिया ने गहलोत सरकार पर साधा निशाना

उन्होंने कहा कि कांग्रेस में काम करने की व्यवस्था बहुत पुरानी है. इस चिंतन शिविर के माध्यम से इसमें आमूल-चूल परिवर्तन किया जाएगा.’ चिंतन शिविर के लिए बनी कांग्रेस की संगठन संबंधी समन्वय समिति के सदस्य माकन ने कहा, “संगठन का निचला स्तर बूथ समिति का होता है. ब्लॉक समिति के नीचे बूथ आते हैं. लेकिन अब इनके बीच में, मंडल समिति बनाने का प्रस्ताव है. हर मंडल समिति में 15 से 20 बूथ होंगे. इस पर सर्वसम्मति भी है.

उन्होंने कहा कि जमीनी स्तर पर सर्वेक्षण और इस तरह के अन्य कार्यों के लिए पार्टी में “पब्लिक इनसाइट डिपार्टमेंट’ बनाने का भी प्रस्ताव है. माकन ने कहा, “इसके अलावा यह भी प्रस्ताव है कि पदाधिकारियों के कामकाजी प्रदर्शन की जांच परख के लिए आकलन इकाई (असेसमेंट विंग) बने ताकि अच्छी तरह काम करने वालों को जगह मिले और काम नहीं करने वालों को हटाया जाए.”