अश्विनी कुमार के इस्तीफे के बाद जी 23 के नेताओं ने कांग्रेस आलाकमान को दी नसीहत

The Fact India: पंजाब विधानसभा चुनाव के ठीक पांच दिन पहले ही वरिष्ठ नेता अश्विनी कुमार के पार्टी छोड़ने के बाद जी-23 के नेताओं ने एक बार फिर कांग्रेस आलाकमान(Congress high command) को नसीहत दी है. पूर्व कानून मंत्री के कांग्रेस से अलग होने पर आनंद शर्मा समेत कई वरिष्ठ कांग्रेसी नेताओं ने दुख प्रकट किया है. उन्होंने कहा कि यह कांग्रेस पार्टी के लिए अच्छा नहीं है. हालांकि कांग्रेस की तरफ से कोई आधिकारिक बयान अब तक नहीं आया है. 

पंजाब को साधने में जुटे PM मोदी, बोले- आप और कांग्रेस एक ही थाली के चट्टे- बट्टे

जी-23 गुट के नेताओं के बागी तेवर

गुलाम नबी आजाद ने कहा कि एक के बाद एक नेता पार्टी छोड़ रहा है और यह चिंता का विषय है. आजाद, राज्यसभा में कांग्रेस के डिप्टी लीडर आनंद शर्मा, लोकसभा सांसद मनीष तिवारी ने कहा कि इस समय पार्टी को आत्ममंथन करने की जरूरत है. गौरतलब है कि ये तीनों ही नेता जी 23 में शामिल हैं जिन्होंने अगस्त 2020 को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी(Sonia Gandhi) को पार्टी में बदलवा करने के लिए पत्र लिखा था. 

यूपी: अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर किया शायराना वार

ऐसे नेताओं का पार्टी छोड़कर जाना चिंता का विषय

पार्टी के एक नेता ने कहा कि अगर विधानसभा चुनावों में पार्टी को बड़ा नुकसान होता है तो बड़े बदलाव हो सकते हैं. गुलाम नबी आजाद(Gulam Navi Azad) ने कहा कि ये बहुत ही चिंताजनक बात है कि एक के बाद एक नेता पार्टी छोड़ रहा है. मुझे लगता है कि चौथे या पांचवे पूर्व केंद्रीय मंत्री ने पार्टी छोड़ी है. वहीं देशभर में बड़ी संख्या में नेताओं और कार्यकर्ताओं ने दूसरी पार्टी का साथ पकड़ लिया है.

लोगों के जाने के पीछे की वजह तलाशनी होगी

आजाद कांग्रेस वर्किंग कमिटी के सदस्य हैं और राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष रह चुके हैं. उन्होंने के कहा कि लोगों के जाने के पीछे वजह तलाशनी जरूरी है. ये नहीं कहना चाहिए कि किसी पार्टी या फिर किसी अकेले शख्स की वजह से लोग पार्टी छोड़ रहे हैं. पार्टी में जरूर कुछ कमी होगी जिससे बड़े नेताओं को परेशानी हो रही है. मनीष तिवारी(Manish Tiwari) ने भी कुमार के पार्टी छोड़ने को दुखद और दुर्भाग्यपूर्ण बताया.

73 Views