दिल्ली का हाल-बेहाल, वायु गुणवत्ता ‘गंभीर श्रेणी’ में, सूचकांक पहुंचा 426

The Fact India: देश की राजधानी की वायु गुणवत्ता (Air quality) गंभीर श्रेणी में दर्ज की गई। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के मोबाइल ऐप समीर के मुताबिक दिल्ली का समग्र वायु गुणवत्ता सूचकांक 426 दर्ज किया गया है जो गंभीर श्रेणी में आता है। वहीं आईटीओ में भी वायु गुणवत्ता खराब स्तर से भी ऊपर चली गई है। इसके कारण भारी धुंध छाई हुई है। मेजर ध्यानचंद नेशनल स्टेडियम क्षेत्र में AQI 449 पर पहुंच गया है। आपको बता दें कि राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली की हवा (Air quality) जहरीली होती जा रही है। दिल्ली में कहीं कहीं आसमान काला तो कहीं धूसर दिख रहा है। हवा में धूल और धूंध की मात्रा इतनी ज्यादा है कि दिन में भी गाड़ियों को हेडलाइट जलानी पड़ रही है।

Bihar Election: नतीजों से पहले कांग्रेस में सेंधमारी का शक, पार्टी के वरिष्ठ नेता पहुंचे बिहार

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से मिली जानकारी के मुताबिक दिल्ली का कोई भी इलाका ऐसा नहीं बचा जहां सुकून से सांस ली जा सके।केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड से मिली जानकारी के मुताबिक दिल्ली का कोई भी इलाका ऐसा नहीं बचा जहां सुकून से सांस ली जा सके. हर तरफ वायु प्रदूषण से हाल बेहाल है. दिल्ली के नोएडा, गाजियाबाद, गुड़गांव और फरीदाबाद सहित दिल्ली और बाहरी दिल्ली के तमाम इलाकों में हवा की गुणवत्ता बेहद खराब है। विशेषज्ञ बता रहे हैं कि सांस लेने में परेशानी जैसी समस्या से जूझ रहे लोगों के लिए ये काफी खतरनाक है।

PM मोदी ने वाराणसी को दिया 700 करोड़ का दिवाली गिफ्ट, कई योजनाओं का किया लोकार्पण

हर तरफ वायु प्रदूषण से हाल बेहाल है। दिल्ली के नोएडा, गाजियाबाद, गुड़गांव और फरीदाबाद सहित दिल्ली और बाहरी दिल्ली के तमाम इलाकों में हवा की गुणवत्ता (Air quality) बेहद खराब है. विशेषज्ञ बता रहे हैं कि सांस लेने में परेशानी जैसी समस्या से जूझ रहे लोगों के लिए ये काफी खतरनाक है।

46 Views