सरकार के रवैये पर अनिल अम्बानी के बेटे ने उठाए सवाल, पूछा ये

The Fact India: देश में कोरोना की दूसरी लहर चल रही है. हर रोज बड़ी संख्या में कोरोना के मरीज सामने आ रहे हैं. बेलगाम होते कोरोना को देखते हुए कई शहरों में एहतियाती कदम उठाए गए हैं. लेकिन इन फैसलों से देश के रईस उद्योगपति अनिल अंबानी के बेटे और रिलायंस कैपिटल के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर अनमोल अंबानी बेहद खफा है. अनमोल अंबानी (Anmol Ambani) ने लॉकडाउन को लेकर केंद्र की मोदी सरकार और राज्य सरकारों पर सवाल दाग दिया है.

अनमोल अंबानी (Anmol Ambani) ने अपने सबसे पहले ट्वीट में कहा कि प्रोफेशनल एक्टर अपनी फिल्मों की शूटिंग कर सकते हैं. प्रोफेशनल क्रिकेटर्स देर रात तक अपने खेल खेल सकते हैं.. प्रोफेशनल सियासी नेता भीड़ के साथ रैलियां कर सकते हैं. लेकिन आपका बिजनेस या फिर काम जरूरी नहीं है. अगले ट्वीट में उन्होंने कहा, ‘तो फिर जरूरी क्या है? हर व्यक्ति के लिए उसका कार्य जरूरी है.. इसके बाद अनमोल अंबानी के कुछ और ट्वीट आए.

इस मामले में गहलोत-पायलट से कहीं आगे है वसुंधरा राजे, जाने क्यों

अनमोल अंबानी ने अपने एक अन्य ट्वीट में कहा कि ये लॉक डाउन समाज और अर्थव्यवस्था की रीढ़ की हड्डी को बर्बाद कर रहे हैं. दिहाड़ी मजदूर, सेल्फ इंप्लॉइड और एसएमई से लेकर रेस्टोरेंट, ढाबे, फैशन व क्लोथिंग स्टोर तक को नुकसान हो रहा है.. वे पूरी तरह से बर्बाद हो जाते हैं. ये लॉकडाउन्स स्वास्थ्य को लेकर नहीं हैं. ये नियंत्रण करने के लिए हैं और मुझे लगता है कि हम में से कई अनजाने में बेहद बड़े और भयावह प्लान के जाल में फंस रहे हैं.

बहरहाल जाहिर सी बात है कि अनमोल अंबानी ने जो सवाल उठाए है वो मौजूदा वक्त में हर किसी के जहन में उठ रहा है. जहां एक ओर आम लोगों पर पाबंदियां लगाईं जा रही है तो वहीं चुनावी रैलियों में जमकर इन पाबंदियों का मखौल उड़ाया जा रहा है. ऐसे में सवाल उठता है कि क्या सिर्फ नेताओं एक्टर्स और क्रिकेटर्स के ही काम जरुरी है आम लोगों के नहीं. इस पर आप भी अपनी राय व्यक्त कर सकते हैं.