BAAR के पूर्व सीईओ का दावा, चैट लीक मामले में फिर से अर्नब गोस्वामी पर लटक रही है गिरफ्तारी की तलवार

Arnab-Goswami

The Fact India: BAAR के पूर्व सीईओ पार्थों दासगुप्ता ने टीआरपी स्कैम मामले में बड़ा खुलासा किया है उन्होंने दावा किया है कि रिपब्लिक टीवी के एडिटर इन चीफ अर्नब गोस्वामी (Arnab Goswami) ने उसे टीआरपी के साथ छेड़छाड़ करने के बदले 12 हजार डॉलर दिए थे। पार्थों ने ये भी कहा है कि उसे फिक्स रेटिंग के लिए कुल 40 लाख रुपए तीन साल में मिले है। मुंबई पुलिस ने मामले में 3, 600 पन्ने का सप्लीमेंट्री चार्जशीट बीते 11 जनवरी को कोर्ट में फाइल किया है। इसमें बार्क के फॉरेंसिक रिपोर्ट को भी पेश किया गया है। इसके अलावा मुंबई पुलिस ने दासगुप्ता और अर्नब (Arnab Goswami) के बीच हुई लंबी बातचीत का व्हाट्सएप चैट और 59 लोगों का बयान भी फाइल किया गया है। जिसमें केबल ऑपरेटर्स और बार्क काउंसिल के पूर्व कर्मचारी शामिल हैं।

शिवसेना ने दी नसीहत, सामना में लिखा- BJP ने ममता दीदी का वीक पॉइंट पकड़ लिया

चैट लीक मामला के सामने आने के बाद फिर से अर्नब गोस्वामी (Arnab Goswami) पर गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है। इसको लेकर महाराष्ट्र सरकार लगातार कानून के जानकारों के साथ संपर्क में है। रविवार को राज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने कहा था, ये मुद्दा राष्ट्रीय सुरक्षा से जुड़ा है और केन्द्र सरकार को इस पर जवाब देना चाहिए। देशमुख ने कहा, ‘महाराष्ट्र सरकार इस संबंध में कानूनी राय ले रही है कि क्या राज्य का गृह विभाग ऑफिसयल सीक्रेट एक्ट, 1923 के तहत इस मामले में कार्रवाई कर सकता है।

भारत-चीन बॉर्डर पर फिर झड़प, भारतीय सैनिकों ने खदेड़ा, चीन के 20 सैनिक जख्मी

कुछ दिनों पहले अर्नब गोस्वामी (Arnab Goswami) और ब्रॉडकास्ट ऑडियंस रिसर्च काउंसिल (बार्क) के पूर्व प्रमुख पार्थो दासगुप्ता के बीच हुई चैट लीक हो गई थी। इसे सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण ने शेयर किया था। इस चैट के मुताबिक गोस्वामी को 2019 में हुई बालाकोट स्ट्राइक के बारे में पहले से ही जानकारी थी।