ईद-उल-अजाह मुबारक, उत्साह से मनाया जा रहा है त्यौहार, पीएम ने दी मुबारकबाद

The Fact India: आज देशभर में बकरीद (Bakra Eid 2021) मनाई जा रही है. यह मुसलमानों के लिए बेहद ही खास त्यौहार है. इसे लेकर बीते कई दिनों से तैयारियां चल रही था. हालांकि मुस्लिम समाज के मौलानाओं ने सभी से अपील की है कि कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए लोग घरों में ही नमाज अदा करे. आज यह त्यौहार बड़े उत्साह से मनाया  जा रहा है लोग एक दूसरे को ईद की बधाइयां दे रहे है.

पीएम मोदी और सीएम अशोक गहलोत ने दी मुबारकबाद

प्रधानमंत्री मोदी ने ट्विट के जरिए सभी को ईद की मुबारकबाद दी है उन्होंने लिखा- ईद उल अजाह की हार्दिक शुभकामनाएं. यह दिन सामूहिक सहानभूति, सद्भाव और अधिक से अधिक अच्छे की सेवा में समावेश की भावना को आगे बढ़ाए.

वही सीएम अशोक गहलोत ने भी सभी को मुबारकबाद (Bakra Eid 2021) दी और कोरोना गाइडलाइन की पालना करते हुए त्यौहार मनाने की अपील की. उन्होंने अपने ट्विट में लिखा – ईद- उल- अजहा के मौके पर मुबारकबाद. यह त्यौहार हमे नेक नीयत के साथ समाज के गरीब एवं जरुरतमंद लोगों की मदद के लिए सदैव तत्पर रहने की प्रेरणा देता है. सभी मुस्लिम धर्मावलम्बिंयों से अपील है कि कोविड-19 को देखते हुए सोशल डिस्टेंसिंग रखे एवं कोविड प्रोटोकॉल के साथ ईद मनाए.  

ये है ईद- उल- अजाह का अर्थ

अगर हम ये शब्द ईद- उल- अजाह यानि की बकरीद का शाब्दिक अर्थ देखते है तो पता चलता है कि यह कुर्बानी है जो अल्लाह की राह में दी जाती है.  अजहा अरबी शब्द है जिसका अर्थ होता है कुर्बानी, बलिदान, त्याग और ईद का अर्थ होता है त्यौहार. यानि कुर्बानी का त्यौहार.

देश में कल मनाया जाएगा बकरीद का त्योहार,जानें बकरीद पर कुर्बानी की कहानी

हज भी किया जाता है ऐसे पूरा

बकरों के अलावा भेड़, ऊंट और भैंसे की भी कुर्बानी दी जाती है. लेकिन शर्त यह है कि वह पूरी तरह स्वस्थ हो. कुर्बानी दिए जाने वाले जानवरों को बहुत सम्मान के साम्मान के साथ रखने की परंपरा है. जिस दिन बकरीद होती है उस दिन हज भी होता है. पैगंबर हजरत इब्राहिम को जो शैतान भटकाने आया था उसके प्रतीक को हज के तीसरे दिन पत्थर मारने की रस्म होती है और इसी के साथ हज पूरा होता है.