IPL शुरू होने से पहले बढ़ी BCCI की चिंता, वानखेड़े स्‍टडियम के 8 ग्राउंड्समैन कोरोना संक्रमित

Indian Premier League
Indian Premier League

The Fact India: इंडियन प्रीमियर लीग (Indian Premier League) पर कोरोना वायरस का खतरा मंडरा रहा है. आईपीएल का पहला मैच मुंबई इंडियंस और रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के बीच खेला जाएगा. उससे पहले एक चिंताजनक खबर आ रही है. वानखेड़े स्‍टडियम के 8 ग्राउंड्समैन कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए हैं. वानखेड़े स्टेडियम में आईपीएल के 14वें सीजन के 10 मुकाबले खेले जाने हैं. मुंबई समेत महाराष्ट्र में लगातार बढ़ रहे कोरोना वायरस के मामलों के चलते बीसीसीआई की चिंता बढ़ गई है.

स्‍पोर्टस्‍टार की रिपोर्ट के अनुसार, पिछले हफ्ते वानखेड़े स्‍टेडियम के 19 मैदानकर्मियों का आरटी-पीसीआर टेस्‍ट किया गया था. इसमें तीन लोगों की रिपोर्ट पहले ही आ गई थी जबकि पांच अन्‍य मैदानकर्मी 1 अप्रैल को आई रिपोर्ट में पॉजिटिव पाए गए हैं.

भले ही लीग (Indian Premier League) इस बार भारत में हो रही लेकिन कोरोना की वजह से कई बदलाव भी हुए हैं. जैसे इस बार फाइनल समेत सभी 60 मैच 6 शहरों में ही खेले जाएंगे. इसमें अहमदाबाद, बेंगलुरु, चेन्नई, दिल्ली, मुंबई और कोलकाता शामिल हैं. लीग स्टेज के 56 में से 40 मैच चेन्नई, मुंबई, कोलकाता, बेंगलुरु में खेले जाएंगे. जबकि बाकी 16 में से 8-8 मैच दिल्ली और अहमदाबाद में होंगे. फाइनल और प्ले-ऑफ भी अहमदाबाद के नए बने नरेंद्र मोदी स्टेडियम में खेला जाएगा.

कोरोना के चलते टूर्नामेंट (Indian Premier League) बायो सिक्योर बबल में खेला जाएगा. लीग स्टेज के दौरान हर एक टीम को सिर्फ तीन बार ही यात्रा करनी होगी. यानी तीन बार ट्रैवल करके वो अपने सभी मैच पूरे कर लेगी. कोरोना वायरस के चलते लीग के शुरुआजी स्टेज में दर्शकों की स्टेडियम में एंट्री बैन रहेगी.

न्यूट्रल वेन्यू में होंगे मैच- इस बार सभी टीमें न्यूट्रल वेन्यू (तटस्थ जगह) में मैच खेलेंगी. उदाहरण के तौर पर मुंबई इंडियंस अपने अभियान का आगाज (Indian Premier League) चेन्नई में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर के खिलाफ खेलेगी वहीं चेन्नई सुपरकिंग्स मुंबई में दिल्ली कैपिटल्स के खिलाफ पहला मैच खेलेगी

नरेंद्र मोदी स्टेडियम में खेला जाएगा फाइनल

आईपीएल 2021 का फाइनल मैच दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम में खेला जाएगा. फाइनल मैच 30 मई को नरेंद्र मोदी स्टेडियम में होगा. बता दें इस स्टेडियम में 1 लाख 10 हजार लोग एक साथ बैठकर मैच देख सकते हैं. हालांकि कोरोना की वजह से इतने दर्शकों को बैठने की इजाजत नहीं मिलेगी.