अगर कोरोना टेस्ट नेगेटिव आये तो भी रहिये सावधान ! रखिए इन बातों का ध्यान

Negative

The fact India: पहले ऐसा माना जा रहा था कि कोरोना की जांच के लिए आरटी-पीसीआर टेस्ट सबसे बेहतर होता है, लेकिन दूसरी लहर में यह उम्मीदों पर खरा नहीं उतरा है और विशेषज्ञ इसके पीछे कई तरह की वजहें मानते हैं। देशभर में फैली कोरोना महामारी की दूसरी लहर ने कई वजहों से लोगों को चिंता में डाल दिया है। पहली बात तो ये कि यह लहर पहले के मुकाबले काफी अधिक जानलेवा है और दूसरी बात कि कई लोगों की टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव (Negative) आ रही है, जबकि उनमें कोरोना के लक्षण साफ-साफ दिख रहे हैं।

सेहत के लिए कारगार है दही,जानिए दही खाने के चमत्कारिक फायदे

कोरोना की इस दूसरी लहर में कई म्यूटेट वैरिएंट का मिश्रण देखने को मिल रहा है। कई विशेषज्ञों का ऐसा मानना है कि आरटी-पीसीआर टेस्ट नए म्यूटेट वैरिएंट का पता लगा पाने में असमर्थ है। इसके अलावा कई लोगों में लक्षण दिखने के बावजूद उनकी टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव आने का कारण यह भी बताया जा रहा है कि हो सकता है सैंपल सही से न लिया गया हो या शरीर में वायरल लोड बहुत कम हो, इसलिए रिपोर्ट निगेटिव आ रही हो। 

अगर आपको कोरोना के लक्षण दिख रहे हैं, लेकिन टेस्ट रिपोर्ट निगेटिव आई हो तो निश्चिंत न हों बल्कि सतर्क रहें। सबसे पहले तो आपको लक्षण दिखें तो खुद को आइसोलेट कर लें और लक्षणों पर ध्यान देते रहें। साथ ही डॉक्टरों से सलाह भी लेते रहें। 

गंध और स्वाद की क्षमता का चले जाना, बहुत तेज बुखार आना, बहुत ज्यादा थकावट महसूस होना, गले में खराश, सूखी खांसी और डायरिया आदि की समस्या हो तो इन्हें बिल्कुल भी नजरअंदाज न करें। ये कोरोना के सबसे आम लक्षणों में से हैं। 

अगर आपके लक्षण सामान्य हैं तो होम आइसोलेशन में रहें और कुछ बातों का विशेष ध्यान रखें। जैसे- हवादार कमरे में रहें, जिसमें खिड़कियां और वेंटिलेटर हों और किसी अन्य व्यक्ति के संपर्क में न आएं। इसके अलावा पल्स ऑक्सीमीटर से ऑक्सीजन लेवल की जांच करते रहें। अगर सांस लेने में कठिनाई महसूस हो तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें और अस्पताल जाएं।