Monsoon : मानसून में चाय की चुस्कियां बनाएंगी आपकी सेहत

The Fact India : आज के समय चाय हमारी सबसे पसंदीदा ड्रिंक्स बन गई है. घर से लेकर ऑफिस के दफ्तर तक हम अपने काम की शुरुआत चाय पीने के साथ करते हैं. लेकिन बारिश (Monsoon) के मौसम में बदलते  तापमान  की वजह से होने वाले सर्दी, खांसी और छींक में चाय पीना  कितना  फायदेमंद होती है. अगर आप नहीं जानते हैं तो चलिए आपको समझाते है.

Udaipur Terror : उदयपुर मर्डर केस में बिहार का कनेक्शन

बरसात के मौसम (Monsoon) में अगर आप चाय पीने के शौक़ीन हैं तो चाय बनाते समय उसमें कम मात्रा में हल्दी डालें  जिसमें हल्दी करक्यूमिन, की ताकत होती है, जो  हमारे शरीर के अंदरूनी हिस्से को मजबूत बनाती है. साथ ही जड़ी बूटी की एंटीबैक्टेरियल क्वालिटी के होने की वजह से यह मानसून के मौसम में होने वाले कई इंफेक्शन का इलाज करती है. बरसाती मौसम में चाय बनाते समय  तुलसी  डालना बिलकुल भी ना भूलें, क्योंकि चाय में तुलसी डाल कर पीने  से सीने में जमे कफ को कम करने में काफी मदद मिलती है साथ ही झुखाम-खांसी जैसी  बीमारी को खत्म करने में काफी योगदान होता है. तुलसी में पाए जाने वाले विटामिन ए, डी, आयरन, फाइबर बैक्टीरिया को नष्ट करने और इम्युनिटी बढ़ाने में भी  मदद करते हैं. अगर बारिश के मौसम में आपका स्ट्रीट फूड खाने का मन करता है लेकिन  इसे खाने के बाद पेट दर्द और लूज  मोशन जैसी प्रॉब्लम हो जाती है तो इन सब से छुटकारा पाने के लिए के लिए चाय में अदरक मिला कर पीना बहुत जरूरी है. अदरक चाय में एक ऐसी दवा का काम करता है जो डाइजेशन और मेटाबॉलिज्म को बढ़ाती है, साथ ही हमारी आंतों को काम करने में मदद करती है. मोशन सिकनेस या मॉर्निंग सिकनेस के कारण होने वाली परेशानी को भी इस चाय से कंट्रोल किया जा सकता है. चाय में  गुड़हल भी एक दवा का काम करती है, क्योंकि यह बीटा-कैरोटीन,विटामिन सी और एंथोसायनिन से भरपूर होता है. अब आपने जान लिया होगा कि जड़ीबूटी हमारे इम्युनिटी सिस्टम को बैलेंस में रखती है, और यह अनचाही बीमारियों और इंफेक्शन को दूर करती है.  फिलहाल इस खबर में आपको सामान्य जानकारी दी है इन सबके प्रयोग से पहले डॉक्टर से सलाह जरूर लें.

260 Views

Leave a Reply

Your email address will not be published.