भरतपुर पुलिस ने किया ऑनलाइन लूट को अंजाम देने वाली गैंग का पर्दाफाश

Online loot

The Fact India: भरतपुर पुलिस द्वारा सोमवार को ऑनलाइन ठगी (Online loot) करने वाले गिरोह का खुलासा किया। जिसके द्वारा कुछ दिन पहले पुलिस पर फायरिंग भी की गई थी। गैंग के कुल 7 बदमाशों अजरुद्दिन (21), हस्सन (42), अति मोहम्मद (48), अख्तर खान (38), सद्दाम (27), सोयब (19), सद्दाम (22) को गिरफ्तार किया गया। जिनके पास से कुल 3.29 लाख रुपए नकद बरामद किए गए। साथ ही 7 ट्रैक्टर, एक किया सैल्टोस कार, एक ब्रीजा कार, एक बोलेरो और तीन मोटरसाइकिल जब्त की गई। इसके साथ ही बदमाशों के पास से एक लैपटॉप, 7 एंड्रॉइड फोन, 43 बैंक पासबुक, 12 एटीएम कार्ड और 4 बैंक की चैक बुक मिली।

पुलिस जांच में सामने आया कि बदमाश ऑनलाइन वेबसाइट्स पर सामान बेचने के लिए विज्ञापन डालते थे। जब सामान खरीदने के इच्छुक लोग आरोपियों को फोन करते थे तो कुछ राशि टोकन मनी के रूप ऑनलाइन ट्रांसफर (Online loot) करवा ली जाती थी। जिसके बाद जब खरीदार सामान लेने पहुंचता तो उसे किडनैप कर लूट लेते थे। आरोपियों द्वारा ज्यादातर कार, बाइक, फर्नीचर, मोबाइल और इलेक्ट्रॉनिक्स आइटम बेचने के विज्ञापन डाले जाते थे।

खरीदार को शक न हो इसके लिए आरोपी अपनी फोटो की जगह किसी आर्मी के कर्मचारी और अधिकारी की फोटो लगाकर चैट करते थे। जिससे सामान खरीदने वाला व्यक्ति आसानी से इनके चंगुल में फंस जाता था। सभी आरोपियों द्वारा फर्जी दस्तावेजों से ली गई सिम के जरिए पूरी घटना (Online loot) को अंजाम दिया जा रहा था। गिरफ्तार किए गए सात आरोपियों द्वारा इन आंध्रप्रदेश, महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, आसाम, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश, हरियाणा, पंजाब, राजस्थान और दिल्ली समेत कई जगहों के लोगों के साथ ठगी करना कबूल किया।