मेयर सौम्या गुर्जर को सस्पेंड करने के विरोध में भाजपा का धरना

The Fact India: जयपुर ग्रेटर नगर निगम की मेयर सौम्या गुर्जर को निलंबित (suspension of Mayor) करने का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. भाजपा ने आज प्रदेशभर में सड़कों पर उतर कर विरोध जताया. इस कड़ी में भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने पार्टी मुख्यालय पर धरना प्रदर्शन किया. इतना ही यही बल्कि भाजपा के आला नेताओं ने राज्यपाल कलराज मिश्र को ज्ञापन भी सौपा.

गहलोत सरकार पर हमला बोलते हुए पूनिया ने कहा कि प्रदेश के इतिहास में इस तरह का यह पहला वाक्य हैं और इसमें लोकतंत्र की हत्या हुई है, जिसका विरोध हम लोग रहे हैं. उन्होंने कहा कि इस मामले को लेकर पार्टी राज्य में सभी मंडलों पर धरना-प्रदर्शन कर रही है. उन्होंने कहा कि इसके खिलाफ हम अदालत से सड़क तक लड़ाई लड़ेंगे.

मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए डोटासरा ने सुनाया चप्पल और प्याज का किस्सा

उन्होंने कहा कि सामान्य वादविवाद को आपराधिक घटना में तब्दील कर दिया गया. उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस जयपुर ग्रेटर निगम की हार पचा नहीं पा रही हैं और वह प्रतिशोध की राजनीति करने लगी हैं जो दुर्भाग्यपूर्ण हैं. पूनिया ने कहा कि सरकार के नीयत में शुरु से ही खोट हैं और कानून का दुरुपयोग किया गया है.

नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने कहा कि जनता द्वारा चुने हुए जनप्रतिनिधि को एक अधिकारी के बयान के आधार पर हटा देना, यह पहली घटना है जो दुर्भाग्यपूर्ण हैं. इस धरने में नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया, संगठन मंत्री चंद्रशेखर, विधायक राजेंद्र राठौड़, वासुदेव देवनानी, जयपुर प्रभारी अरुण चतुर्वेदी समेत कई बीजेपी कार्यकर्ता और पदाधिकारी मौजूद रहे.