कारोबारी मनीष गुप्ता हत्याकांड: एक और आरोपी पुलिस गिरफ्त में, सब-इंस्पेक्टर अभी भी गिरफ्तार

कारोबारी मनीष गुप्ता हत्याकांड

The Fact India: कानपुर के कारोबारी मनीष गुप्ता हत्याकांड का एक और आरोपी पुलिसकर्मी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. हत्या मामले में वांछित चल रहे हेड कांस्टेबल कमलेश यादव को गोरखपुर पुलिस ने बुधवार को दोपहर गिरफ्तार कर लिया. एसआईटी कमलेश यादव से पूछताछ कर रही है वहीं इस मामले में उप निरीक्षक विजय यादव अभी फरार चल रहा है.

गौरतलब है कि हत्या मामले (कारोबारी मनीष गुप्ता हत्याकांड) का आरोपी दरोगा राहुल दुबे और सिपाही प्रशांत कुमार को मंगलवार दोपहर गिरफ्तार किया गया था. दोनों कोर्ट में सरेंडर करने की फिराक में थे. पुलिस ने आजाद चौक इलाके से दोनों को गिरफ्तार कर एसआईटी कानपुर के सुपुर्द कर दिया. एसआईटी ने दोनों से करीब साढ़े पांच घंटे तक पूछताछ की. देर रात रामगढ़ताल थाने में दोनों का मेडिकल कराया गया जिसके बाद रिमांड मजिस्ट्रेट की कोर्ट में पेश किया गया. कोर्ट के आदेश पर दरोगा और सिपाही को 14 दिन की न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया. रात 9:45 बजे दोनों को नेहरू बैरक में भेजा गया. इसी बैरक में मुख्य हत्यारोपी निलंबित इंस्पेक्टर जेएन सिंह और दरोगा अक्षय मिश्रा पहले से बंद हैं.

वहीं, इस मामले में एक आरोपी उपनिरीक्षक विजय यादव अभी पुलिस की पकड़ से दूर है. इससे पहले दस अक्तूबर को पुलिस ने मुख्य आरोपी इंस्पेक्टर जेएन सिंह और दरोगा अक्षय मिश्रा को गिरफ्तार किया था. कानपुर पुलिस की ओर से सभी छह आरोपी पुलिस वालों पर एक-एक लाख रुपये का इनाम घोषित है.