Ranji Trophy : MP की इस कामयाबी के पीछे कोच चंद्रकांत पंडित

The Fact India : मुंबई और मध्यप्रदेश के बीच बुधवार से बेंगलुरु के एम चिन्नास्वामी स्टेडियम में रणजी ट्रॉफी (Ranji Trophy) का फाइनल मुकाबला शुरू होगा। मुंबई 41 बार की चैंपियन है, वहीं MP की टीम अपने पहले खिताब की तलाश में उतरेगी। 88 साल के टूर्नामेंट के इतिहास में मध्यप्रदेश ने दूसरी बार फाइनल (Ranji Trophy) में जगह बनाई है। टीम 23 साल के बाद खिताबी मुकाबला खेल रही है। MP की इस कामयाबी के पीछे कोच चंद्रकांत पंडित को सबसे ज्यादा श्रेय दिया जा रहा है। पंडित ने दो साल पहले ही टीम की कोचिंग की कमान संभाली थी। उनके कार्यकाल के पहले साल में MP की टीम लीग राउंड में ही बाहर हो गई थी। फिर अगले सीजन में, यानी इस बार MP ने कमाल कर दिया। करीब 1.5 करोड़ रुपए की सालाना सैलरी पर नियुक्त हुए कोच पंडित ने टीम को दो साल में फर्श से अर्श तक पहुंचा दिया। इससे पहले वे मुंबई को 2015-16, विदर्भ को 2017-18 और 2018-19 में चैंपियन बना चुके हैं।चंद्रकांत पंडित ने क्रिकेट की बारीकियां सचिन तेंदुलकर के गुरु और मशहूर क्रिकेट कोच रमाकांत आचरेकर से सीखी हैं। बतौर खिलाड़ी पंडित ने टीम इंडिया के लिए पांच टेस्ट और 36 वनडे मुकाबले खेले हैं। वे 1986 की वर्ल्ड कप टीम का हिस्सा रहे हैं। उन्होंने अपने कॅरियर में 171 टेस्ट और 290 वनडे रन बनाए हैं।

42 Views