कांग्रेस और किसान नेताओं की नजर राजस्थान पर, कल टिकैत करेंगे महासभा

The Fact India: केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ देशभर में चल रहे आंदोलन के बीच राजस्थान में आंदोलन की आग तेज होती जा रही है. जहां एक ओर मंगलवार को किसान नेता राजस्थान के दो जिलों महापंचायत करेंगे. तो वहीं कांग्रेस ने भी उपचुनाव से पहले किसान आंदोलन के सहारे हवा का रुख अपनी करने की तैयारी कर ली है. कांग्रेस 26 और 27 फरवरी को चूरू और चित्तौड़गढ़ में किसान सम्मलेन (Mahasabha) करने जा रही है.

23 फरवरी यानि मंगलवार को सीकर में किसान नेता राकेश टिकैत किसान महापंचायत को संबोधित करेंगे. किसान महापंचायत को लेकर तैयारियां जोरों पर है. इस महापंचायत (Mahasabha) में किसान नेता अमराराम, योगेंद्र यादव और हरियाणवी गायक अजय हुड्डा भी शामिल होंगे. 23 फरवरी को ‘पगड़ी संभाल दिवस’ और 24 फरवरी को ‘दमन विरोधी दिवस’ मनाया जाएगा और इस दौरान इस बात पर जोर दिया जाएगा कि किसानों का सम्मान किया जाए और उनके खिलाफ कोई ‘दमनकारी कार्रवाई’ नहीं की जाए.

श्वास नली में खजूर अटकने के बाद बैंसला को अस्पताल में कराया गया भर्ती

वहीं दूसरी ओर कांग्रेस राजस्थान में किसान सम्मेलन की तैयारियां करने में जोरशोर से जुटी है. लिहाजा इसी कड़ी में इस सप्ताह चित्तौड़गढ के मातृकुण्डियां में किसान सम्मेलन आयोजित किया जाएगा. इसकी तैयारियां भी जोर शोर से की जा रही हैं. सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना इसकी पुष्टि कर चुके हैं. इन किसान सम्मेलनों में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के साथ ही प्रदेश प्रभारी अजय माकन, पीसीसी चीफ गोविन्द सिंह डोटासरा और अन्य नेता शामिल होंगे.

बता दें कि कांग्रेस के इन किसान सम्मेलनों को आगामी दिनों में होने वाले उपचुनाव से भी जोड़ कर देखा जा रहा है. क्योंकि मातृकुण्डियां में आयोजित प्रस्तावित किसान सम्मेलन मेवाड़ क्षेत्र के वल्लभनगर, राजसमंद और सहाड़ा सीट को प्रभावित करेगा. इन तीनों स्थानों पर उपचुनाव होने है. वहीं बीदासर का सम्मेलन सुजानगढ़ सीट पर होने वाले उपचुनाव की दृष्टि से महत्वपूर्ण है.