महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन का ठीकरा कांग्रेस-NCP ने फोड़ा बीजेपी के सिर

President's Rule

The Fact India : महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन ( President’s Rule ) लग गया है. राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाए जाने की सिफारिश की थी, जिसकी राष्ट्रपति ने मंजूरी भी दे दी है. हालांकि महाराष्ट्र में सरकार बनाने का विकल्प अभी खत्म नहीं हुआ है. इसके लिए राजनीतिक दलों को राज्यपाल को विश्वास दिलाना होगा कि उनके पास बहुमत का आंकड़ा है. इसके बाद भी राज्यपाल के ऊपर यह निर्भर करेगा कि वह सरकार गठन के लिए राज्य से राष्ट्रपति शासन को हटाकर सरकार बनाने के लिए अमंत्रित करते हैं या नहीं.  

शशि थरूर ने मोदी के खिलाफ दिया विवादित बयान, जमानती वारंट जारी

वहीं महाराष्ट्र में एनसीपी और कांग्रेस के बीच साझा प्रेसवार्ता आयोजित हुई. इस दौरान कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने कहा कि महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन ( President’s Rule ) लगाने की कोई जरूरत नहीं थी. राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाकर संविधान का मखौल उड़ाने की कोशिश की गई है. वहीं कांग्रेस पार्टी की ओर से ये भी कहा गया कि कांग्रेस को राज्यपाल की ओर से क्यों आमंत्रित नहीं किया गया. साथ ही संयुक्त प्रेसवार्ता में अहमद पटेल ने कहा कि अभी शिवसेना से बातचीत की जाएगी. वहीं एनसीपी नेता शरद पवार ने कहा कि हम महाराष्ट्र में दोबार चुनाव नहीं चाहते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.