कृषि कानूनों के खिलाफ पुष्कर में कांग्रेस ने निकाला पैदल मार्च

The Fact India: कृषि कानूनों के खिलाफ देशभर में विरोध प्रदर्शन का दौर चल रहा है. इसी कड़ी में आज कांग्रेस ने प्रदेशभर में पैदल मार्च निकाला. प्रदेश कांग्रेस कमेटी के आह्वान पर शनिवार को पुष्कर में सैकड़ों कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने गनाहेड़ा रेलवे फाटक से रामधाम तिराए तक तीन किलोमीटर की पैदल मार्च (Foot March) निकाली. यह पैदल मार्च केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों के विरोध और किसान आंदोलन के समर्थन में निकाली गई. पदयात्रा का नेतृत्व पूर्व शिक्षा राज्यमंत्री एवं पीसीसी उपाध्यक्ष नसीम अख्तर इंसाफ ने किया.

पीएम मोदी पर मिमिक्री करना कॉमेडियन श्याम रंगिला को पड़ा भारी, मुकदमा दर्ज

पैदल मार्च (Foot March) के रामधाम तिराहे पर पहुंचने पर पूर्व मंत्री नसीम अख्तर इंसाफ ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि नए तीन कृषि बिलों के कारण खेती किसानी की व्यवस्था पूरी तरह चौपट हो जाएगी. किसान अंबानी, अडानी के खेतिहर मजदूर बनकर रह जाएंगे. कांग्रेस पार्टी हमेशा किसानों के साथ खड़ी है.

सहाड़ा में बीजेपी सुरेश चौधरी को दे सकती है टिकट, तूफानी दौरे जारी

उन्होंने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार ने कहा था कि अच्छे दिन आएंगे, महंगाई कम होगी. लेकिन महंगाई तो बढ़ती जा रही है, पेट्रोल और गैस के बढ़ते दाम आसमान छू रहे हैं. इससे ग्रहणीयों और आम जनता पर भार बढ़ रहा है. केंद्र की मोदी सरकार ने तीन काले कानून लाकर किसानों को और गरीब करने में तुली हुई है. जब देश का किसान ही सुखी नहीं रह सकता तो देश कैसे खुशहाल रह सकता है. उन्होंने मोदी सरकार से तीनों कृषि बिल वापस लेने की मांग की.

रिपोर्ट- राकेश शर्मा