कोरोना की स्थिति गंभीर : Lockdown लगाने पर विचार करे सरकार

Lockdown

The Fact India: देश में कोरोना महामारी की स्थिति को देखते हुए रविवार को सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र और राज्य सरकारों को आदेश दिया है कि वो लॉकडाउन (Lockdown) लगाने के बारे में गंभीरता से विचार करें.

कोर्ट ने कहा, “हम केंद्र और राज्य सरकारों से अपील करते हैं कि वो ऐसी गतिविधियों पर रोक लगाएं जहां अधिक संख्या में लोगों के इकट्ठा होने की संभावना हो सकती है. वायरस को फैलने से रोकने के लिए सरकार जनहित में लॉकडाउन भी लगा सकती है.”

कर्नाटक: सरकारी अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी से 22 मरीजों की मौत, मचा हड़कंप

हालांकि कोर्ट ने ये भी कहा कि लॉकडाउन का सामाजिक और आर्थिक असर हाशिए पर रहने वाले समुदायों और मज़दूरों पर पड़ सकता है. ऐसे में अगर सरकार लॉकडाउन लगाती है तो वो इन समुदायों की ज़रूरतों को ध्यान में रखते हुए पहले से ही व्यवस्था करे.

अदालत ने साथ ही कहा कि किसी भी राज्य या केंद्र शासित प्रदेश में मरीज़ को पहचान पत्र न होने पर अस्पताल में भर्ती करने या फिर आवश्यक दवा देने से मना नहीं किया जाएगा.

कोर्ट की तीन जजों की बेंच ने केंद्र सरकार से कहा कि वो दो सप्ताह के भीतर मरीज़ों को अस्पतालों में भर्ती करने को लकेर एक राष्ट्रीय नीति बनाए. कोर्ट ने कहा कि ये नीति सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के साथ साझा की जाए, लेकिन तब तक किसी मरीज़ को स्थानीय निवास प्रमाण पत्र या पहचान प्रमाण पत्र न होने पर अस्पताल में भर्ती करने से या ज़रूरी दवा देने से मना न किया जाए.