DigiYatra: हवाई अड्डे पर अब चेहरा ही होगा बोर्डिंग पास, सिंधिया ने लॉन्च किया ‘डिजियात्रा’ ऐप

The Fact India: दिल्ली, बेंगलुरु और वाराणसी से कोई फ्लाइट अगर आप लेना चाहते हैं तो यह खबर आपके लिए है। आप इन हवाई अड्डों से बोर्डिंग पास के बिना भी हवाई यात्रा कर सकेंगे। इसके लिए आपका चेहरा ही बोर्डिंग पास के‍ लिए मान्य होगा। गुरुवार को नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने डिजियात्रा ऐप लांच कर दिया।

डिजियात्रा के साथ हवाई अड्डों में चेक-इन अब पेपरलेस होगा। सुरक्षा जांच क्षेत्रों सहित विभिन्न चेकप्वाइंट्स पर चेहरे की पहचान प्रणाली के आधार पर यात्री डेटा को स्वचालित रूप से अपडेट किया जा सकेगा। डिजीयात्रा की शुरुआत दिल्ली के अलावा वाराणसी और बेंगलुरु एयरपोर्ट पर की जा रही है। सभी घरेलू यात्री किसी भी एयरलाइन से यात्रा कर रहे हो, वे DigiYatra ऐप डाउनलोड कर यात्रा कर सकेंगे।

इस ऐप जरिए यात्री एयरपोर्ट में प्रवेश ले सकते हैं। गेट पर उन्हें किसी सुरक्षा जांच से नहीं गुजरना होगा। यात्री इस ऐप के जरिए बोर्डिंग गेट तक बिना रोक-टोक जा सकेंगे। इससे यात्रियों का समय भी बचेगा। पहले चरण में इस सुविधा को सात एयरपोर्ट पर लांच करने की योजना है। गुरुवार को इसे तीन हवाई अड्डों दिल्ली, बेंगलुरु और वाराणसी के लिए लांच किया जा रहा है। मार्च 2023 तक इसे कोलकाता, हैदराबाद, पुणे और विजयवाड़ा हवाई अड्डों पर शुरू कर दिया जाएगा। इसके बाद इसे पूरे देश में लागू किया जाएगा। इसे फिलहाल घरेलू यात्रियों के लिए ही लांच किया गया है।

डिजियात्रा ऐप पर रजिस्टर करने के बाद यात्रियों को एक कोडेड बोर्डिंग पास जनरेट होगा। इसे स्कैन करने के बाद ई-गेट पर लगा फेशियल रिकग्निशन सिस्टम यात्री की पहचान करेगा और उसके दस्तावेजों को वैलिडेट करेगा। इस चरण के बाद यात्री एयरपोर्ट में प्रवेश कर सकता है। एयरपोर्ट में एंट्री के बाद यात्री को सिक्योरिटी चेक और दूसरी सामान्य प्रक्रियाओं से गुजरना पड़ेगा। इस ऐप के जरिए यात्रा करने वाले यात्रियों की जानकारी (पीआईआई) कहीं स्टोर नहीं की जाएगी। यात्री की आईडी और यात्रा क्रेडेंशियल यात्री के स्मार्टफोन पर ही एक सुरक्षित वॉलेट में जमा हो जाते हैं।

152 Views

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *