Raksha Bandhan 2022 : रक्षाबंधन पर बहनें नौ ग्रहों से मांगती है भाई की खुशहाली

Dr. Anish Vyas On Raksha Bandhan 2022

The Fact India : रक्षाबंधन (Raksha Bandhan 2022) पर अपने भाई की कलाई पर राखी बांधने के लिए बहनें पूजा की थाली सजाती है। इस पूजा की थाली में बहन नौ ग्रहों की सामग्री द्वारा भाई की खुशहाली मांगती है। नौ ग्रहों से यह प्रार्थना करती है कि उसके भाई को अन्न धन लक्ष्मी के साथ दीर्घायु और शुभ फल देना।

रक्षाबंधन (Raksha Bandhan 2022) भाई बहन के अनूठे प्रेम स्नेह और अटूट रिश्ते को दर्शाता है जिसका भाई व बहनों को पूरे साल से इंतजार रहता है। यह वह दिन होता है जिस दिन बहनें अपने भाइयों की कलाई पर रक्षा सूत्र बांधकर उनकी दीर्घायु सुख शांति एवं समृद्धि की जी जान से कामना करती हैं। वहीं भाई भी बहन को यथा शक्ति उपहार तथा उसकी सुरक्षा का भरोसा देता है। रक्षाबंधन जिसे लोकप्रिय रूप में राखी ही कहा जाता है भाई बहनों के पवित्र बंधन को और मजबूत बनाने का दिन होता है। वैसे तो ये हिंदू धर्म का त्योहार है लेकिन कई अन्य धर्मों में भी लोग इसे अपने तरीके से मनाते हैं। बहनें प्यार और स्नेह की निशानी के रूप में अपने भाई की कलाई पर एक पवित्र धागा बांधती हैं और बदले में भाई अपनी बहनों की रक्षा करने का संकल्प लेता है। हांलाकि समय के साथ इसमें काफी बदलाव भी आया है। अब भाई की ओर से बहनों को उपहार देना भी सम्मलित हो गया गया है। रक्षाबंधन (Raksha Bandhan 2022) दो शब्दों से मिलकर बना है रक्षा और बंधन जिसका अर्थ है रक्षा के बंधन में बंधना । ये एक ऐसा त्योहार है जो केवल भाई-बहनों के खून के रिश्ते को ही परिभाषित नहीं करता बल्कि ये करीबी रिश्ते वालों के लिए भी उतना ही महत्वपूर्ण होता है। यानी भाई और बहन का खून का हो यह जरूरी नहीं। रक्षाबंधन वो बंधन है जो मन और दिल से जुड़ता है।

नौ ग्रह और पूजा की थाली
इस दिन सभी बहनें अपने भाइयों की कलाई पर राखी बांधने से पहले एक विशेष थाली सजाती है। ज्योतिषाचार्य और भविष्यवक्ता अनीष व्यास ने बताया कि पूजा की थाली में रखनी चाहिए यह खास 7 चीजें अनिवार्य रूप से होनी चाहिए। रक्षाबंधन पर अपने भाई की कलाई पर राखी बांधने के लिए बहनें पूजा की थाली सजाती है। इस पूजा की थाली में बहन नौ ग्रहों की सामग्री द्वारा भाई की खुशहाली मांगती है। नौ ग्रहों से यह प्रार्थना करती है कि उसके भाई को अन्न धन लक्ष्मी के साथ दीर्घायु और शुभ फल देना।

Raksha Bandhan 2022 : रक्षाबंधन पर देवताओं को राखी बांधना होता है शुभ

कुमकुम
बहन भाई को कुमकुम का तिलक लगाती है जो सूर्य ग्रह से मिलता है और दुआ करती है कि आने वाले साल में भाई को हर प्रकार का यश और ख्याति प्राप्त हो।

चावल-अक्षत
पूजा में चावल को सबसे शुभ माना जाता है। बहन भाई को कुमकुम के तिलक के ऊपर चावल लगाती है जो कि शुक्र ग्रह से मिलता है और दुआएँ करती है कि ष्मेरे भाई के जीवन में हर तरह की शुभता आए और मेरा मेरे भाई से हमेशा प्रेम बना रहे।

नारियल
इसको पूजा में श्रीफल कहा जाता है। यह राहु ग्रह से मिलता है। बहन जब भाई को श्रीफल देती है तो इसका अर्थ है कि आने वाले वर्ष में भाई को सभी प्रकार के सुख सुविधा के मिले।

रक्षा सूत्र राखी
रक्षासूत्र हमेशा दाएँ हाथ की कलाई पर बांधा जाता है। यह मंगल ग्रह से मिलता है जो कहता है कि बहन की दुआएँ हैं कि उसके भाई सभी प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष मुश्किलों से उसकी रक्षा करें।

मिठाई
बहन भाई को मिठाई खिलाती है जो कि गुरु ग्रह से मिलता है और दुआ करती है कि उसके भाई पर लक्ष्मी की कृपा रहे। भाई के संतान और वैवाहिक जीवन भी सुखद रहे। भाई के घर में सभी कार्य निर्विघ्न पूरे हों।

दीपक
फिर बहन भाई की दीपक से आरती करती है जो शनि और केतु ग्रह से मिलता है और दुआएँ करती है कि मेरे भाई के जीवन में आने वाले रोग और कष्ट सभी दूर हों।

जल से भरा कलश
फिर जल से भरे कलश से भाई की पूजा करें जो कि चंद्रमा से मिलता है जिसमें बहन दुआएँ करती है कि मेरे भाई के जीवन में मानसिक शांति हमेशा बनी रहे।

उपहार
ऊपर की इन 7 चीजों में बहन की दुआओं के साथ आप के 8 ग्रह शुभ होते हैं। अब रहा नवाँ ग्रह बुध। बुध ग्रह को बहन का कारक ग्रह माना गया है। अब आप जो बहन को उपहार देंगे उससे आपका बुध ग्रह शुभ होकर फल देगा। कहते हैं बुध ग्रह जो आपके व्यापार से मिलता है अगर आपकी बहन या भाई की दुआएँ मिल जाए तो आपके व्यापार में वृद्धि कर देता है। इसलिए हमेशा अपनी बहन को गिफ्ट देकर उनकी दुआएँ लेते रहें।

140 Views

Leave a Reply

Your email address will not be published.