यू-ट्यूब देखकर 5वीं पास नौकर ने बनाया डमी बम, हुआ गिरफ्तार

The Fact India: राजधानी जयपुर के व्यापारी को केक बॉक्स में बम भेजकर फिरौती मांगने वाले आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है. यह डमी टाइमर बम (Dummy Timer Bomb) भेजकर फिरौती मांगने वाला व्यक्ति कोई और नहीं बल्कि व्यापारी के शोरूम पर काम करने वाला पांचवीं पास नौकर था. यू-ट्यूब से वीडियो देखकर उसे बम बनाने का आइडिया आया. रविवार को पुलिस ने इस मामले का खुलासा किया है. डमी बम भेजकर व्यापारी से 10 लाख रुपए की फिरौती मांगी गई थी. मामले में पुलिस ने व्यापारी के नौकर और उसकी प्रेमिका को गिरफ्तार कर लिया है. दोनों ने मिलकर केक के बॉक्स में डमी बम भेजा था. पूछताछ में सामने आया कि कर्जा उतारने के लिए नौकर ने फिरौती मांगने की योजना बनाई थी. साथ ही जिसे वह अपनी महिला मित्र बता रहा था, वह उसकी साली की बेटी निकली.

डीसीपी ईस्ट प्रहलाद कृष्णियां से मिली जानकारी के अनुसार अनीस अहमद, सुभाष और सुहालिया को गिरफ्तार कर लिया गया है. साथ ही उन्होंने बताया कि अनीस अहमद व्यापारी विभू गुप्ता के पास ही काम करता था. व्यापारी विभू ने दो दिन पहले टाइमर बम भेजकर 10 लाख रुपए की फिरौती मांगने का मामला दर्ज कराया था. जिसके बाद पुलिस ने सीसीटीवी की मदद से रिक्शा ड्राइवर पप्पू को हिरासत में लिया और उससे हुई पूछताछ में सामने आया कि एक महिला ने उसे बॉक्स दिया था. उसी के आधार पर पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज खंगाले और आरोपियों को हिरासत में लिया. पूछताछ में दोनों ने बताया कि उन्होंने मिलकर इसकी प्लानिंग की थी.

6 महीने पहले ही आया था काम पर

व्यापारी विभू गुप्ता ने एक साल पहले ही मायरा के नाम से पॉश इलाके में कपड़ों का शोरूम खोला था. 6 महीने पहले अनीस अहमद उसके पास काम करने आया था और कुछ दिनों पहले ही उसने काम छोड़ दिया था. उसके ऊपर काफी कर्जा हो गया था. महिला मित्र सुहालिया से रुपए कमाने की बात कही. इसके बाद दोनों ने मिलकर व्यापारी से फिरौती मांगने का प्लान बनाया. अनीस ने तार, घड़ी लगाकर डमी बम बनाया था.

भारत रत्न मिलने से पहले गोल्डन बॉय कृष्णा नागर के लिए आई बुरी खबर, मां का निधन

बुर्का पहनकर दिया था केक बॉक्स

अनीस ने महिला मित्र को व्यापारी का विजिटिंग कार्ड दिया. जिसके बाद वह बुर्का पहन कर व्यापारी के शोरूम से कुछ दूरी पर खड़ी हो गई और रिक्शा चालक पप्पू को 50 रुपए देकर केक बॉक्स दिया और बोला कि यहां पर व्यापारी को केक बॉक्स का पार्सल दे देना. रिक्शा चालक को पार्सल देने के बाद वे दोनों चुपचाप नजर रखे हुए थे.

पूछताछ में अनीस ने बताया वह व्यापारी को पहले से जानता था. उसके पास काफी रुपए भी है. साथ ही उसे विश्वास था कि थोड़ा सा डराने और धमकाने पर वह रुपए दे देगा. उसे पता था कि व्यापारी के पास हमेशा काफी रुपए रहते थे. इसलिए उसने महिला मित्र के साथ मिलकर धमकी देकर रुपए मांगने की योजना बनाई थी.