बिजली की कमी से सीएम गहलोत चिंतित, जनता से बिजली बचाने की कर रहे अपील

The Fact India: राजस्थान सहित देश दुनिया में बिजली संकट (Electricity Issue) गहरा रहा है. प्रदेश में तो बिजली कटौती से जनता भी परेशान है. ब्लैक आउट जैसी स्थितियों पर चर्चाएं होना शुरु हो चुकी है. कोयले की कमी से बिजली कटौती बढ़ती जा रही है. इससे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत काफी चिंतित नजर आ रहे है और बार बार प्रदेश की जनता से बिजली बचाने की अपील कर रहे है. आज भी मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर बिजली का सीमित व विवेकपूर्ण इस्तेमाल करने की अपील की.

सीएम ने किया ट्वीट

मुख्यमंत्री गहलोत लगातार सोशल मीडिया के जरिए बिजली सप्लाई को लेकर भी जनता को अपडेट कर रहे है. ऐसे में आज फिर उन्होंने ट्विट कर कहा- राज्य़ सरकार कोयले की आपूर्ति बढाने हेतु निरंतर केंद्र सरकार के संपर्क में है ताकि बिजली उत्पादन सुचारु रुप से चल सके व लोगों व निर्बाध बिजली सप्लाई मिल सके. आप सभी से अपील है बिजली का सीमित व विवेकपूर्ण इस्तेमाल करें. जो बिजली उपकरण काम नहीं आ रहे है, उन्हें बंद रखें. बिजली बचाएं (Electricity Issue).

बड़ा फेरबदल: ACB की कार्रवाई के बाद नीरज के पवन का तबादला, बड़े स्तर पर IPS भी इधर-उधर

वहीं सीएम ने यह भी कहा कि कि प्रदेश ही नहीं, पूरा देश इस समय भयंकर बिजली संकट से जूझ रहा है. राजस्थान भी इससे अछूता नहीं है. मौसम तंत्र के  परिवर्तन से बिजली की मांग अधिक हो गई है. मांग और आपूर्ति में अंतर बढ़ा है.

त्योहारी सीजन में बिजली कटौती

अक्टूबर नवंबर का महीना त्योहारों से भरा होता है. ऐसे में बिजली की जरुरत भी ज्यादा होती है. पर कोयले की सप्लाई कम होने के कारण बिजली का उत्पादन कम हो रहा है और कहा जा रहा है कि अभी ये परेशानी और बढ़ सकती है. ऐसे में दीवाली आते आते या तो इस समस्या का हल निकलेगा या प्रदेशवासियों को रोशनी के त्योहार पर अंधेरे का सामना करना पड़ेगा.