चुनाव आयोग के नोटिस के बाद भी अपने बयान पर अड़ीं ममता, कहा- अब भी कहूंगी

Election commission
Election commission

The Fact India: मुस्लिम वोटर्स से अपील को लेकर चुनाव आयोग (Election commission) से मिले नोटिस के बाद भी पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी अपने रुख पर अड़ी हुई हैं. टीएमसी सुप्रीमो ने गुरुवार को एक बार फिर कहा कि वह अब भी एकजुट होकर वोट करने की अपील करेंगी. ममता ने यह भी कहा कि यदि उन्हें 10 कारण बताओ नोटिस भी जारी किए जाएं तो भी परवाह नहीं है.

दीदी ने दिया था ये बयान

आपको बता दें मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने दमजुर में एक रैली के दौरान कहा था कि मुझे 10 कारण बताओ नोटिस भी जारी कर दिया जाए तो इससे कोई फर्क नहीं पड़ता है. मैं हर किसी से कह रही हूं कि एकजुट होकर वोट करो, कोई बंटवारा नहीं होगा. नरेंद्र मोदी के खिलाफ कितनी शिकायतें दर्ज की गई हैं? वह हर दिन हिंदू-मुस्लिम करते हैं. ममता ने आगे कहा कि उन लोगों के खिलाफ कितनी शिकायतें दर्ज की गईं जो नंदीग्राम के मुसलमानों को पाकिस्तानी कहते हैं? क्या वे शर्मिंदा नहीं हैं? वे मेरे खिलाफ कुछ नहीं कर सकते हैंय मैं हिंदू, मुसलमान, सिख, ईसाई और आदिवासियों के साथ हूं.

चुनाव आयोग ने ममता को थमाया नोटिस

चुनाव आयोग (Election commission) ने ममता बनर्जी को हुगली में चुनाव रैली के दौरान सांप्रदायिक आधार पर मतदाताओं से अपील करने के लिए बुधवार को एक नोटिस जारी किया है. उनसे 48 घंटे के भीतर नोटिस पर जवाब देने को कहा गया है. नोटिस में कहा गया कि चुनाव आयोग को भाजपा के प्रतिनिधिमंडल से शिकायत मिली है जिसमें आरोप लगाया है कि 3 अप्रैल को, बनर्जी ने हुगली में ताराकेश्वर की चुनाव रैली के दौरान मुस्लिम मतदाताओं से कहा कि उनका वोट विभिन्न दलों में न बंटने दें.