पहले कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग का कानून बनाया, अब घड़ियाली आंसू बहा रहे- सिद्धू

Navjot Singh Sidhu

The Fact India: पंजाब कांग्रेस के नए बने अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) ने फ्रंटफुट पर आते हुए विपक्षी अकाली दल पर कृषि कानूनो को लेकर तीखा हमला बोला है. बुधवार को मीडिया से बात करते हुए सिद्धू ने कहा कि केंद्र सरकार की ओर से बनाए गए तीन काले कानूनों को बनाए जाने के पीछे अकाली दल का हाथ रहा है. सिद्धू ने कहा कि ये कानून जब बनाए गए थे, तब अकाली दल भी केंद्र सरकार का हिस्सा था और उसने इस पर सहमति जताई थी. मीडिया से बात करते हुए नवजोत सिंह सिद्धू अकेले ही थे और सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह समेत प्रदेश का कोई और सीनियर नेता नहीं था.

इन बिल से किसानों को नहीं मिलेगा दाम

पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) ने कहा कि पूर्व सीएम प्रकाश सिंह बादल ने 2013 में कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग को लेकर बिल पेश किया था. इन तीनों ही कृषि कानूनों के लिए अकाली दल जिम्मेदार है. सिद्धू ने कहा कि इन कानूनों में किसानों के लिए एमएसपी की गारंटी दिए जाने की कोई बात नहीं कही गई है. इससे कॉरपोरेट सेक्टर को अधिकार मिलेगा कि वह एमएसपी से कम पर भी किसानों से फसलें खरीद सकेगा. कांग्रेस नेता ने कहा कि इसमें 108 फसलों को लाया गया है, जो एमएसपी के तहत थीं. इससे किसानों को सही दाम नहीं मिल सकेगा.

बादल परिवार पर भी सिद्धू ने बोला हमला

पंजाब की विपक्षी पार्टी अकाली दल पर हमला बोलते हुए सिद्धू ने कहा कि जब इन काले कानूनों को बनाया जा रहा था, तब वह भी मोदी सरकार का हिस्सा थी. सिद्धू ने कहा कि पंजाब में बादल सरकार ने ही कानून बनाया था कि यदि कोई किसान लोन देने से चूकता है तो उसे 5,000 रुपये से लेकर 5 लाख तक का जुर्माना होगा. उन्होंने दावा किया कि बादल परिवार ने अपनी सरकार के दौरान जो बिल पेश किए थे, उनकी तर्ज पर ही केंद्र की ओर से तीन कानून बनाए गए हैं. उन्होंने कहा कि बादल सरकार की पॉलिसियों का पूरी तरह फोटो स्टेट करते हुए केंद्र सरकार ने तीन कानूनों को पारित किया है.