पूर्व लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह बने उत्तराखंड के नए राज्यपाल, राजभवन में ली शपथ

Former Lieutenant General

The Fact India: उत्तराखंड के नवनियुक्त राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल (रिटायर) गुरमीत सिंह (Former Lieutenant General) ने राज्यपाल पद की शपथ ले ली है. राजभवन में उत्तराखंड उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति आरएस चौहान ने नए राज्यपाल गुरमीत सिंह को पद की शपथ दिलाई है. आपको बता दें कि सिंह को लगभग एक हफ्ते पहले राज्य के नए राज्यपाल के रूप में नियुक्त किया गया था. बुधवार सुबह जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर कैबिनेट मंत्री डॉ. धन सिंह रावत, गणेश जोशी और स्वामी यतीश्वरानंद ने उनका स्वागत किया था. साथ ही नवनियुक्त राज्यपाल के आगमन पर पुलिस ने गार्ड ऑफ ऑनर दिया था.

नए राज्यपाल के रूप में लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह ने ली शपथ

दरअसल, ले. जनरल (रिटायर) गुरमीत सिंह (Former Lieutenant General) को उत्तराखंड का नया राज्यपाल नियुक्त किया गया है. वह बीते 14 सितंबर को देहरादून पहुंचे. वहीं, 15 सितंबर यानि कि आज उनका शपथ ग्रहण समारोह है. गौरतलब है कि भारतीय सेना के लेफ्टिनेंट जनरल पद के रूप में रिटायर हुए गुरमीत सिंह को भारत के राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद द्वारा अपने नए पद के लिए चुना गया था, जब प्रदेश की राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था.

 4 दशकों में नवनियुक्त गवर्नर ने कई अहम जिम्मेदारियां संभाली

आपको बता दें कि फरवरी 2016 में रिटायर हुए लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह (Former Lieutenant General)ने अपनी लगभग 4 दशकों की सेवा के दौरान कई प्रतिष्ठित पदों पर काम किया, जिनमें डिप्टी चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ, एडजुटेंट जनरल और रणनीतिक XV कोर के कोर कमांडर शामिल हैं. जोकि कश्मीर में नियंत्रण रेखा को देखती है. सिंह ने सैन्य अभियानों के अतिरिक्त महानिदेशक के रूप में चीन के साथ सैन्य-रणनीतिक मुद्दों को भी संभाला. जिसके लिए उन्हें सात बार चीन का दौरा भी करना पड़ा. वहीं, गुरमीत सिंह डिफेंस सर्विसेज स्टाफ कोर्स और नेशनल डिफेंस कॉलेज से स्नातक हैं. उन्होंने चेन्नई और इंदौर के विश्वविद्यालयों से एम.फिल की हुई हैं और जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) में चीनी अध्ययन संस्थान में भारत और चीन सीमा मुद्दों पर एक रिसर्चर भी हैं.