कृषि कानूनों के खिलाफ कल जयपुर से एक साथ उड़ान भरेंगे गहलोत-पायलट

The Fact India: राजस्थान में इन दिनों किसान आंदोलन के चलते सियासत जबरदस्त गरमाई हुई है. एक ओर जहां किसान नेता विभिन्न जिलों में महापंचायत कर रहे हैं तो वहीं इसमें राजनीतिक पार्टियां भी पीछे नहीं है. पिछले दिनों कांग्रेस ने राहुल गांधी के मौजूदगी में 5 महापंचायतें की थी अब कांग्रेस एक बार फिर महापंचायत (Mahapanchayats) करने जा रही है. इसके जरिये माना जा रहा है कि कांग्रेस आगामी दिनों में होने वाले उपचुनाव की सियासी जमीन तैयार कर रही है.

इस महापंचायत में एक सबसे दिलचस्प तस्वीर भी देखने को मिलेगी. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट एक साथ जयपुर से हेलीकाप्टर से रवाना होंगे. ऐसा नजारा लम्बे आरसे बाद देखने को मिलेगा जब पायलट और गहलोत एक ही विमान में सवार होकर दान भरेंगे.

सियासी हलकों में कहा जा रहा है कि कांग्रेस एक तीर से दो निशाने साध रही है. एक ओर किसान महापंचायत (Mahapanchayats) के जरिये किसानों को साधने की कवायद तो दूसरी ओर चार सीटों पर होने वाले उपचुनाव. कांग्रेस श्रीडूंगरगढ़ और चित्तौड़गढ़ के मातृकुंडियां किसान सम्मलेन करने जा रही है.

5 राज्यों के चुनाव की तारीखों का ऐलान, 2 मई को आएंगे नतीजे, पढ़ें पूरी डिटेल

ये रहेगा कार्यक्रम

-सुबह 11.30 बजे श्रीडूंगरगढ़ विधानसभा क्षेत्र में बीदासर के पास पिलानिया की ढाणी में किसान सम्मेलन होगा.
-दोपहर 2 बजे चित्तौड़गढ़ के मातृकुंडिया में किसान सम्मेलन होगा.
-मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और प्रदेश प्रभारी अजय माकन करेंगे इन सम्मेलनों को संबोधित.
-पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा समेत कई मंत्री – नेता भी करेंगे संबोधित.
-श्रीडूंगरगढ़ का सम्मेलन सुजानगढ़ उपचुनाव के लिहाज से महत्वपूर्ण है.
-मातृकुंडियां का सम्मेलन सहाड़ा, राजसमंद और वल्लभनगर सीट के लिहाज से अहम है.
-तीनों सीटों का सेंटर प्वाइंट और बड़ा धार्मिक स्थल है मातृकुंडिया.
-मातृकुण्डियां में भीलवाड़ा, उदयपुर और राजसमंद से 50 हजार की भीड़ जुटाने का टारगेट है.