गुलाब नबी आजाद ने पढ़े मोदी के कसीदे, बताया जमीन से जुड़ा नेता

The Fact India : कांग्रेस पार्टी से असंतुष्ट बताए जा रहे ‘ग्रुप-23’ के नेताओं में शामिल और हाल ही में राज्यसभा से रिटायर हुए गुलाम नबी आजाद (Gulam Nabi Azad) ने आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कसीदे पढ़े हैं. उन्होंने पीएम मोदी को जमीन से जुड़ा हुआ नेता बताते हुए कहा है कि लोगों को उनसे सीखना चाहिए कि कामयाबी की बुलंदियों पर जाकर भी कैसे अपनी जड़ों को याद रखा जाता है. उन्होंने पीएम मोदी के बचपन में चाय बेचने की घटना का जिक्र करते हुए कहा कि उन्होंने अपनी असलियत नहीं छिपाई.

महाराष्ट्र के वन मंत्री ने उद्धव को सौंपा इस्तीफा, युवती की मौत में आया था नाम

सभा को संबोधित करते हुए ये बोले नबी

गुलाम नबी आजाद (Gulam Nabi Azad) ने जम्मू-कश्मीर में एक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि बहुत से लीडरों की बहुत सी बातें अच्छी लगती हैं. मैं खुद गांव का हूं और बहुत फक्र होता है. हमारे पीएम मोदी भी कहते हैं गांव से हैं, कहते हैं कि बर्तन मांजता था, चाय बेचता था, निजी तौर पर हम उनके खिलाफ हैं, लेकिन जो अपनी असलियत नहीं छिपाते, यदि आपने अपनी असलियत छिपाई तो आप मशीनरी दुनिया में जी रहे होते हैं.

मोदी ने हालहि में की थी नबी की तारीफ

गौरतलब है कि गुलाम नबी आजाद के रिटायरमेंट पर राज्यसभा में पीएम मोदी ने उनकी जमकर तारीफ की थी और यहां तक की उनसे जुड़ी एक घटना को याद करके भावुक भी हो गए थे. पीएम मोदी ने आजाद को सैल्यूट किया था. बाद में गुलाम नबी आजाद भी भावुक हो गए थे. गुलाम नबी आजाद पार्टी के उन 23 नेताओं में प्रमुख चेहरा हैं जो संगठन चुनाव की मांग को लेकर मोर्चा खोल चुके हैं. एक दिन पहले ही इन नेताओं ने जम्मू में सभा की थी और कहा था कि वे कांग्रेस को मजबूत करना चाहते हैं.