भारी बारिश का कहर, सीएम गहलोत ने कहा जरुरत पड़ी तो लेंगे सेना की मदद

The Fact India: राजस्थान में भारी बारिश (Heavy-Rain) का दौर जारी है. प्रदेश के करीब आधा दर्जन जिलों में बाढ़ के हालात बन गए हैं. कई गांव टापू में तब्दील हो गए हैं. राहत बचाव का कार्य जारी है. इसी बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि जरुरत पड़ने पर सेना कि भी मदद ली जाएगी.

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने चिंता जाहिर करते हुए कहा कि कोटा, बारां, बूंदी और झालावाड़ के कुछ इलाकों में भारी बारिश (Heavy-Rain) से बाढ़ के हालात बन गए हैं. प्रशासन को राहत एवं बचाव कार्यों के संबंध में निर्देश दिए हैं. NDRF, SDRF एवं सिविल डिफेंस की टीमें मदद कार्य कर रही हैं. सेना से भी संपर्क किया गया है एवं जरूरत पड़ने पर सेना की मदद ली जाएगी.

राजस्थान में ग्रामीण खेलों का होगा आयोजन, जीते तो इनाम में स्टेडियम

उन्होंने कहा कि धौलपुर में भी चंबल नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है और भरतपुर में अधिक बारिश के कारण के कुछ इलाकों में भी बाढ़ के हालात बन सकते हैं. भरतपुर और धौलपुर में भी प्रशासन को अलर्ट पर रखा गया है. आमजन से अपील है कि सावधानी बरतें और परेशानी होने पर तुरंत प्रशासन को सूचित करें.

वही बूंदी शहर में मकान ढ़हने से 5 लोगों की मौत हो गई. इसपर सीएम गहलोत ने दुःख जाहिर करते हुए कहा कि बूंदी के केशोरायपाटन में दीवार गिरने से मकान ढहने पर हुए हादसे में 7 लोगों की मृत्यु बेहद दुखद एवं दुर्भाग्यपूर्ण है. प्रभावितों के परिजनों के प्रति मेरी गहरी संवेदनाएं, ईश्वर उन्हें इस कठिन समय में सम्बल दें एवं दिवंगतों की आत्मा को शान्ति प्रदान करें.