2021 में 576 पुलिसकर्मियों पर गिरी गाज, 122 पुलिसकर्मियों को दी गई चार्जशीट

The Fact India: राजस्थान पुलिस के कर्मचारियों के लिए साल 2021 अच्छा साबित नहीं हुआ. पूरे साल खाकी पर दाग लगता रहा. पिछले साल 576 पुलिसकर्मियों (Rajasthan_Police) पर विभिन्न मामलों के चलते पर गाज गिरी. इनमें से ज्यादातर को लापरवाही बरतने और अन्य अनियमितताओं के कारण सस्पेंड किया गया. जबकि 67 पुलिसकर्मियों और अधिकारियों को अनैतिक आचरण और अन्य अवांछनीय गतिविधियों के चलते या तो जबरन रेटायर्मेंट दे दिया या उन्हें बर्खास्त कर दिया.

राजस्थान पुलिस भले साल 2021 की अपनी उपलब्धियों को गन्ने में जुटी हुई है. लेकिन साढ़े पांचसो से ज्यादा पुलिसकर्मी और अधिकारयों (Rajasthan_Police) को अपने आचरण के चलते घर बिठा दिया गया. विभिन्न थानों में पुलिसकर्मियों के ही खिलाफ 77 एफआईआर दर्ज की गई. DGP एमएल लाठर भी कह चुके हैं कि पुलिसकर्मियों को अपने व्यवहार में बदलाव लाने की जरुरत है.

राजस्थान में बड़ी प्रशासनिक सर्जरी, 22 कलेक्टर्स समेत 52 IAS के तबादले, अलवर कलेक्टर बरकरार

पुलिस मुख्यालय की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार पिछले साल अनुशासनहीनता करने वाले 67 पुलिसकर्मियों को बर्खास्त या अनिवार्य सेवानिवृत्ति दे दिया गया. साल 2021 में कुल 576 पुलिस कार्मिकों को सस्पेंड किया गया. 52 पुलिसकर्मियों को 16सीसीए और 122 पुलिसकर्मियों को 17 सीसीए की चार्जशीट दी गई. 2021 में राजस्थान में 48 डिकॉय ऑपरेशन किए गए हैं. उनमें 166-ए में 77 एफआईआर पुलिसकर्मियों के खिलाफ ही दर्ज की गई है.

हालांकि साल 2021 सभी पुलिसकर्मियों के लिए खराब साबित नहीं हुआ. डीजीपी एमएल लाठर के अनुसार 2021 में सराहनीय कार्य करने वाले 73 पुलिसकर्मियों को विशेष पदोन्नति दी गई. वहीं 294 पुलिसकर्मियों को नकद इनाम और 25 पुलिसकर्मियों को प्रशंसा-पत्र दिया गया. जबकि 251 पुलिसकर्मियों को डीजीपी डिस्क प्रशस्ति रोल दिया गया. इसके साथ ही 14661 पुलिसकर्मियों को आपदा डीजीपी डिस्क दिए गए.