पाकिस्तानी एजेंट ने “निशा” और “अंकिता” बनकर फंसाया भारतीय जवान, ले ली खुफिया जानकारी…

The Fact India : राजस्थान पुलिस की इंटेलिजेंस टीम ने जासूसी करने के आरोप में भारतीय सेना (Indian Army) के एक जवान को गिरफ्तार किया है. आर्मी के जवान पर सेना की जानकारी पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI की एजेंट्स को भेजने का आरोप है. बताया जा रहा है कि पाकिस्तानी महिला एजेंट्स ने सेना के जवान को हनी ट्रैप किया, जिसके बाद जवान ने उन्हें भारतीय सेना से जुड़ी गोपनीय जानकारी और वीडियो महिला को भेज दिए. जवान को शासकीय गुप्त बात अधिनियम, 1923 के तहत मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार किया गया है.

निशा और अंकिता नाम बताकर जवान को फंसाया

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इस मामले पर राजस्थान के पुलिस महानिदेशक (इंटेलिजेंस) उमेश मिश्रा ने बताया कि आरोपी जवान (Indian Army) का नाम शांतिमय राणा है. 24 साल का राणा मार्च 2018 से भारतीय सेना में तैनात है. आरोपी जवान पश्चिम बंगाल के बागुंडा जिले का रहने वाला है और जयपुर में आर्टिलरी यूनिट में उसकी तैनाती थी.

34 अरब का आया बिजली का बिल, बहू का बीपी बढ़ गया, ससुर अस्पताल में भर्ती!

आरोपी शांतिमय राणा कुछ समय से राज्य पुलिस के खुफिया विभाग के रडार पर था और उसे 25 जुलाई को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया था. आरोपी ने सोशल मीडिया के माध्यम से अपनी रेजिमेंट से संबंधित गोपनीय जानकारी और सेना अभ्यास के वीडियो कथित महिलाओं के साथ शेयर किए हैं. यह एक पाकिस्तानी महिला एजेंट के संपर्क में था, जिसने अपना परिचय गुरनूर कौर उर्फ अंकिता के रूप में दिया था. इसके अलावा निशा नाम की एक अन्य महिला भी राणा के संपर्क में थी.’

भारतीय जवानों को फंसाने का पहला मामला नहीं

इसे पहले मई 2022 में भी पाकिस्तानी एजेंट्स के द्वारा राजस्थान में तैनात सेना के एक जवान को हनीट्रैप में फंसाने का मामला सामने आया था. जोधपुर में सेना की रेजिमेंट में तैनात प्रदीप कुमार को एक पाकिस्तानी महिला ने झूठे प्रेमजाल में फंसाकर शादी का झांसा दिया था. महिला ने खुद को मध्य प्रदेश का निवासी बताया था. उसने अपने जाल में फंसाकर प्रदीप से भारतीय सेना से जुड़ी काफी जानकारी हासिल की थी.

122 Views

Leave a Reply

Your email address will not be published.