अफगानिस्तान में भारतीय फोटोजर्नलिस्ट और पुलित्जर विजेता की हत्या

The Fact India: अफगानिस्तान में भारतीय पत्रकार और पुलित्जर पुरस्कार विजेता दानिश सिद्दीकी (Danish Siddiqui) की हत्या कर दी गई. अफगानिस्तान के राजदूत फरीद ममुंडजे ने शुक्रवार को इसकी जानकारी दी है. उन्होंने कहा कि दानिश सिद्दीकी अफगान सुरक्षा बलों के साथ एक रिपोर्टिंग असाइनमेंट कर रहे थे और उसी दौरान उनकी हत्या कर दी गई. दानिश न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के लिए काम करते थे.

शुक्रवार को अफगानिस्तान के एम्बेस्डर फरीद मामुन्दजई ने अपने ट्विटर हैंडल पर ये जानकारी दी. हालांकि हत्या किसने की और इसकी वजह क्या थी, इस बारे में अभी कोई जानकारी नहीं सामने आई है. फरीद मामुन्दजई ने ट्वीट में लिखा- कंधार में गुरुवार रात दोस्त दानिश की हत्या कर दी गई. इस घटना से बहुत दुखी हूं. भारतीय जर्नलिस्ट और पुलित्जर पुरस्कार विजेता दानिश (Danish Siddiqui) सिक्युरिटी फोर्सेस के साथ थे. मैं उनसे 2 हफ्ते पहले मिला था, तब वो काबुल जाने वाले थे. उनकी फैमिली के साथ मेरी संवेदनाएं हैं.

भगोड़ा चोकसी बोला- भारत लौटना चाहता था लेकिन इसलिए बदला इरादा

बता दें कि दानिश ने 13 जुलाई को अपने ट्विटर हैंडल पर एक पोस्ट की थी. जिसमें उन्होंने बताया था कि वे पूरे अफगानिस्तान कई मोर्चों पर लड़ाई लड़ रही अफगान स्पेशल फोर्सेस के साथ हैं. उन्होंने कहा था कि मैं एक मिशन पर इन युवाओं के साथ हूं. आज कंधार में ये फोर्सेस रेस्क्यू मिशन पर थीं. इससे पहले ये लोग पूरी रात एक कॉम्बैट मिशन पर थे. इसी हफ्ते जब तालिबान ने कंधार के स्पिन बोल्डक पर कब्जा किया तो स्पेशल फोर्सेस के साथ लगातार उसकी मुठभेड़ शुरू हो गईं. पिछले कई दिनों से दोनों के बीच भीषण संघर्ष जारी है. दानिश इसी मिशन को कवर कर रहे थे.