भंवरी देवी हत्याकांड मामले की मास्टर माइंड इंद्रा विश्नोई को आखिरकार मिली जमानत

The Fact India: बहुचर्चित भंवरी देवी अपहरण और हत्याकांड मामले की मास्टर माइंड इंद्रा विश्नोई को आखिरकार जमानत मिल ही गई. इंद्रा विश्नोई (Indra Vishnoi) पूर्व विधायक मलखान विश्नोई की बहन है. अब सभी 17 आरोपियों को जमानत मिल चुकी है. राजस्थान हाईकोर्ट में कल इंद्रा की जमानत याचिका तकनीकी कारणों से उलझ गई थी. फिर वापस नई याचिका लगाई गई थी. इस याचिका पर आज बुधवार को सुनवाई हुई और उनकी जमानत मंजूरी हो गई.

गुड गवर्नेंस को धरातल पर जानने के लिए खुद CS Niranjan Arya करेंगे औचक निरक्षण

बता दें कि इंद्रा (Indra Vishnoi) इस केस की मास्टर माइंड थी. वह अपनी महत्वाकांक्षा को पूरा करने के लिए भंवरी के साथ मिलकर परिवार को धोखा दे रही थी. साथ ही ये भी सामने आया है कि भंवरी की मौत में उसका सबसे बड़ा हाथ था. भंवरी मामले के बाद इंद्रा ने साढ़े पांच साल तक शिप्रा के तट पर गुमनाम जीवनयापन कर फरारी काटी थी. पांच लाख रुपए की इनामी इंद्रा बहुत मुश्किल से पकड़ में आई थी. वह साल 2017 में पकड़ी गई और तभी से जेल में है.

NCRB Report 2020: बालात्कार के मामलों में राजस्थान अव्वल, हर दिन औसतन 14 से ज्यादा रेप

ये है मामला
साल 2011 में राजस्थान की नर्स और लोकगायिका भंवरी देवी गायब हो गईं. बाद में पता लगा कि उसकी हत्या कर दी गई है. इस मामले में महिपाल मदेरणा और मलखान सिंह विश्नोई पर हत्या का आरोप लगा. बाद में इस मामले ने इतना तूल पकड़ा कि जांच का काम सीबीआई को दिया गया. इस मामले ने तब तूल पकड़ा जब स्वास्थ्य विभाग में एएनएम भंवरी के पति अमरचंद ने 20 सितंबर को रिपोर्ट लिखाई कि उसकी बीवी 20 दिनों से लापता है. उसने मदेरणा के खिलाफ नामजद रिपोर्ट लिखाई. पुलिस ने 2 दिसंबर को मदेरणा और फिर मलखान को गिरफ्तार कर लिया गया. तब से ही दोनों जेल में हैं.