Kota Viral: कोटा के वायरल वीडियो पर प्रशासन ने लिया एक्शन, स्टूडेंट्स को 6 महीने तक नहीं मिलेगी हॉस्टल सुविधा

The Fact India: राजस्थान के कोटा का एक वीडियो (Kota Viral) सोशल मीडिया पर हाल ही में वायरल हुआ था जहां कॉलेज में रैगिंग हुई थी अब इस मामले में प्रशासन ने कड़ी कार्रवाई करते हुये 3 स्टूडेंट्स को 1 महीने के लिए निलंबित कर दिया है. निलंबित किये गये 3 स्टूडेंट्स 2019 बैच के हैं. निलंबित स्टूडेंट्स कॉलेज की शैक्षणिक गतिविधियों में भाग नहीं ले सकेंगे.इसके साथ ही तीनों स्टूडेंट्स को 6 महीने तक हॉस्टल सुविधा नहीं मिलेगी. इनमें से यदि किसी स्टूडेंट्स को स्कॉलरशिप मिलती है तो वह भी उसे आगामी 6 महीने तक नहीं मिलेगी.

दरअसल, सोशल मीडिया पर हाल ही में एमबीबीएस के जूनियर स्टूडेंट्स की रैगिंग का वीडियो वायरल हुआ था.वीडियो वायरल होने के बाद मेडिकल कॉलेज प्रशासन ने इसकी गहनता से जांच करवायी थी.

3 सीआर को पद से हटाया

कॉलेज के एडिशनल प्रिंसिपल एवं एंटी रैगिंग कमेटी के सदस्य डॉ. देवेन्द्र विजयवर्गीय ने बताया कि इस मामले में जिम्मेदारी नहीं निभाने पर 3 क्लास रिप्रेजेंटेटिव को भी CR पद से हटा दिया गया है. लीडर होने के नाते ये तीनों रैंगिंग रोक सकते थे, लेकिन ये अपनी भूमिका का सही तरीके से निर्वहन नहीं कर पाए.

एक्शन इसलिए, ताकि नए स्टूडेंट्स का भरोसा कायम रहे

कोरोना काल में कोटा मेडिकल कॉलेज अस्पताल कोविड मरीजों के (Kota Viral) इलाज को लेकर कभी अच्छी परफॉर्मेंस की वजह से सुर्खियों में रहा तो कभी अव्यवस्थाओं के चलते, लेकिन संक्रमण के दौर में जूनियर स्टूडेंट्स के साथ सीनियर द्वारा किए गए बर्ताव को प्रशासनिक अमले ने गंभीरता से लिया. कॉलेज प्रशासन ने वायरल वीडियो की गहनता से जांच करवाकर एक्शन लिया है ताकि नए स्टूडेंट्स का भरोसा कायम रहे.