ललन सिंह बने JDU के नए अध्यक्ष, राष्ट्रीय कार्यकारिणी में लगी मुहर

The Fact India: जनता दल यूनाइडेट (जेडीयू) नए राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में ललन सिंह(lalan singh) मिल गए हैं. शनिवार को दिल्ली में जेडीयू की कार्यकारिणी की बैठक में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार  की मौजूदगी में केंद्रीय मंत्री आरसीपीसी सिंह ने राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद से इस्तीफा दिया. इसके बाद ललन सिंह को राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने की घोषणा की गई. कार्यकारिणी की बैठक में पार्टी के सभी सांसद और करीब दो दर्जन राज्यों के प्रदेश अध्यक्ष शामिल हुए. 

बंगाल के सांसद बाबुल सुप्रियो ने लिया संयास, सोशल मीडिया के जरिए दी जानकारी

नीतीश के बेहद करीबी माने जाते हैं ललन सिंह

जेडीयू के अध्यक्ष पद की रेस में राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह का नाम सबसे आगे चल रहा था. ललन सिंह (lalan singh) सीएम नीतीश कुमार के बेहद करीबी माने जाते हैं. पिछले साल दिसंबर महीने में ही पार्टी ने प्रदेश अध्यक्ष की कुर्सी पर आरसीपी सिंह को बिठाया था. तमाम सियासी समीकरणों को साधते हुए उनको पार्टी में शीर्ष नेतृत्व का दर्जा दिया गया था लेकिन हाल ही में केंद्रीय मंत्री बनाए गए हैं. मंत्री बनने के बाद वह पार्टी के लिए समय नहीं निकाल पा रहे हैं, ऐसे में पार्टी को एक बार फिर नए अध्यक्ष की तलाश करनी पड़ी.

जानिए कौन हैं ललन सिंह

राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह को कर्पूरी ठाकुर का शिष्य माना जाता है. वर्तमान में मुंगेर लोकसभा सीट से जेडीयू के सांसद, नीतीश कुमार के संपर्क में 1970 के दशक में आए थे. ललन सिंह (lalan singh) उन लोगों में शुमार हैं जिनके साथ मिलकर नीतीश कुमार ने जेडीयू पार्टी का बीज बोया था. लालू के खिलाफ और शरद यादव की नाराजगी मोल लेते हुए नीतीश ने जब अलग पार्टी बनाने की ठानी थी तो ललन सिंह, नीतीश कुमार के साथ थे. तब से वह नीतीश के साथ जुड़े हुए हैं, बीच में कुछ सालों के लिए दोनों के बीच मनमुटाव हुआ था लेकिन यह भी ज्यादा दिन नहीं चला था. ललन सिंह ने नीतीश कुमार के लिए कई बार संकट मोचक की भूमिका निभाई है.