MP में मिला हीरे का सबसे बड़ा भंडार, लेकिन उसके लिए चढ़ेगी लाखों पेड़ों की बलि

The Fact India: जहां एक और सरकार जंगलों को बचाने का इतना प्रयास कर रही है नई नई योजनाएं ला रही है तो वहीं दूसरी और लगातार जंगलों की कटाई के मामले सामने आ रहे है. ऐसा ही एक ताज़ा मामला सामने आया है मध्यप्रदेश के छत्तरपुर से जहां देश का सबसे बड़ा हीरा (Diamonds) भंडार मिल गया है. छतरपुर जिले के बकस्वाहा के जंगल की जमीन में 3.42 करोड़ कैरेट हीरे दबे होने का अनुमान. अब इन्हें निकालने के लिए 382.131 हेक्टेयर का जंगल खत्म किया जाएगा.

वन विभाग ने जंगल के पेड़ों की गिनती की गई है जो कि 2,15,875 है. इन सभी पेड़ों को काटा जाएगा. इनमें 40 हजार पेड़ सागौन के हैं, इसके अलावा केम, पीपल, तेंदू, जामुन, बहेड़ा, अर्जुन जैसे औषधीय पेड़ भी हैं. अभी तक देश का सबसे बड़ा हीरा भंडार पन्ना जिले में है. यहां जमीन में कुल 22 लाख कैरेट के हीरे हैं. इनमें से 13 लाख कैरेट हीरे निकाले जा चुके हैं. 9 लाख कैरेट हीरे और बाकी है. बकस्वाहा में पन्ना से 15 गुना ज्यादा हीरे (Diamonds) निकलने का अनुमान है.

उत्तर प्रदेश चुनाव में लगेगा ग्लैमर का तड़का, मिस इंडिया रनर अप ने ठोकी ताल

जैसा कि हम सब जानते है, हीरे निकालने के लिए पेड़ काटने से पर्यावरण को भारी नुकसान होना तय है. इसके अलावा वन्यजीवों पर भी संकट आ जाएगा. छतरपुर की रिपोर्ट में भी इलाके में संरक्षित वन्यप्राणी के आवास नहीं होने का दावा किया है. और इसी के साथ यहां वन्यजीवों का लगातार कम होना पाया गया है.

कैसे पता चला की यहाँ हीरे है.
2000 से 2005 के बीच सर्वे कराया था बुंदेलखंड क्षेत्र में हीरे की खोज के लिए मप्र सरकार ने आस्ट्रेलियाई कंपनी रियोटिंटो से सर्वे करवाया था. सर्वे में टीम को नाले के किनारे किंबरलाइट पत्थर की चट्‌टान दिखाई दी. हीरा किंबरलाइट की चट्‌टानों में मिलता है.
फ़िलहाल देखना ये होगा हीरे निकालने के लिए पेड़ काटने से पर्यावरण को जो भारी नुकसान होगा उसका जवाबदेही कौन होगा.