राहुल के नाम हिंदू महासभा का खत, लिखा- पार्टी का नाम गोडसेवादी कांग्रेस रख लें

The Fact India : मध्यप्रदेश कांग्रेस में जब से पूर्व हिंदूसभा नेता बाबूलाल चौरसिया ने एंट्री मारी है, तबसे सियासी बवंडर परवान पर है. इसी कड़ी में हिंदू महासभा (Hindu Mahasabha) ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए राहुल गांधी को पत्र लिखा है. पत्र में हिन्दू महासभा की तरफ से लिखा गया है कि देश के किसी भी आम जनता की आस्था कांग्रेस पार्टी में नहीं बची है, ऐसे में कांग्रेस का नाम बदलकर ‘गोडसेवादी कांग्रेस’ रख दिया जाना चाहिए. बताया जा रहा है कि राहुल गांधी के अलावा कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी व मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ को भी कुछ ऐसा ही पत्र लिखा गया है.

हिंदू महासभा ने पत्र में ये कहा

हिन्दू महासभा (Hindu Mahasabha) के महामंत्री विनोद जोशी द्वारा राहुल गांधी को लिखे गए इस पत्र में कहा गया है कि कांग्रेस ने अपनी गलती स्वीकार कर ली है और गांधीवादी कांग्रेस में गांधी की हत्या करने वाली गोडसे की विचारधारा को स्वीकार किया गया है. उन्होंने कहा कि ग्वालियर में नाथूराम गोडसे का मंदिर निर्माण करने वाले पूर्व पार्षद बाबूलाल चौरसिया जो अकेले ही कांग्रेस में सदस्यता ले पाए. इससे साबित होता है कि देश के किसी भी आम नागरिक की अब कांग्रेस पार्टी में आस्था नहीं बची है. इसलिए कांग्रेस का नाम बदलकर “गोडसेवादी कांग्रेस” रख दिया जाना चाहिए और दफ्तर में तस्वीर लगानी चाहिए, जिससे आपका राजनीतिक स्वरूप बच सके और गोडसेवादी संगठन की शक्ति बढ़ाएं.

महासभा में तय हुआ पायलट का राजस्थान कांग्रेस में कद

अभी भी मचा हुआ है सियासी बवंडर

आपको बता दें हिंदू महासभा ने बीते 26 फरवरी को मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमल नाथ को पत्र लिखा था, जिसमें लिखा गया था कि कांग्रेस ने हिंदू महासभा के बाबूलाल को पार्टी में शामिल करके नाथूराम गोडसे की विचारधारा स्वीकार कर ली है. इसलिए यह हिंदू महासभा की जीत है.  दूसरी तरफ, हिन्दू महासभा ने कहा कि बाबूलाल चौरसिया ने हमारे साथ धोखा करके कांग्रेस की सदस्यता ली है. ऐसे में हम उन्हें पहले ही अपने संगठन से अलग कर चुके हैं, लेकिन अब इसी कड़ी में बाबूलाल चौरसिया की पत्नी भगवती देवी को भी 2 साल के लिए हिंदू महासभा के संयोजिका पद से निष्कासित किया जा रहा है.