लखनऊ: कैब चालक को पीटने वाली लड़की बोली- ड्राइवर ने 100 लोगों के साथ पीटा

The Fact India : लखनऊ (Lucknow) में कैब ड्राइवर को बीच चौराहे में पीटने वाली लड़की प्रियदर्शनी नारायण अब मीडिया के सामने आकर अपनी सफाई पेश की है. प्रियदर्शनी ने मीडिया में सफाई देते हुए कहा कि कैब ड्राइवर के साथ 100 लोगों थे जिन्होंने मुझे 300 मीटर तक घसीट कर मारा. इतना ही नहीं, उन लोगों ने मेरी हड्डी भी तोड़ दी थी. प्रियदर्शनी ने कहा कि इस दौरान पुलिस ने कोई एक्शन नहीं लिया और चुप-चुप सब देखती रही. प्रियदर्शनी ने यहा सब एक मीडिया चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा.

कल दिल्ली में भाजपा नेताओं की बड़ी बैठक, शामिल होंगे सभी संसद और पदाधिकारी

कैब ड्राइवर पर लगाए ये आरोप

प्रियदर्शनी ने कहा कि 30 जुलाई की रात भी वो वॉक पर निकली थी. घर लौटते समय अवध चौराहे पर वह रोड क्रॉस कर रही थी, तभी एक कैब ने सिग्नल तोड़कर गाड़ी आगे बढ़ा दी, जो मेरे पैर से छू गई और पास खड़े पुलिस वालों ने भी उसे नहीं रोका. उसने कहा कि कैब ड्राइवर मोबाइल चलाते हुए ड्राइव कर रहा था. लूट पाट की धारा पर सवाल पूछने पर प्रियदर्शनी ने कहा कि पुलिस ने जो मेरे खिलाफ जो धारा दर्ज की है वो है लूट पाट की है. मैनें लूट पाट कहा की है पुलिस मुझे वीडियो दिखाए. लड़की ने कहा कि कैब ड्राइवर झूठ बोल है कि उसका 60 हजार का नुकसान हुआ है.

मानसिक बीमारी का चल रहा इलाज : प्रियदर्शनी


प्रियदर्शनी नारायण ने बताया कि उसका मानसिक बीमारी का इलाज चल रहा है और उसे हर रोज वॉक करनी पड़ती है. 30 जुलाई की रात भी वो वॉक पर निकली थी और चौराहे पर कैब ड्राइवर ने सिग्नल तोड़कर गाड़ी आगे बढ़ा दी, जो मेरे पैर से छू गई. प्रियदर्शनी ने आरोप लगाया कि कैब ड्राइवर मोबाइल चलाते हुए ड्राइव कर रहा था, वहीं, पास खड़े पुलिस वालों (Lucknow) ने भी उसे नहीं रोका. लड़की ने कहा कि उस समय मेरा दिल दहल गया था और लगा कि कार ऊपर चढ़ जाएगी.