निर्मोही अखाड़े के महंत ने जताई नाराजगी, कहा- मोदी फैला रहे कोरोना

The Fact India: देश में कोरोना का कोहराम मचा हुआ है. हर रोज 2 लाख से ज्यादा मामला सामने आ रहे है. लिहाजा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अपील के बाद कुम्भा का समापन कर दिया गया. लेकिन इसके बावजूद चुनावी सभाएं जारी है. इस पर निर्मोही अखाड़े के महंत ने नाराजगी (Corona-Effect) जताई है. और प्रधामनंत्री मोदी पर कोरोना फैलाने का आरोप लगाया है.

कोरोना अस्पताल RUHS के सभी बेड्स फुल, राठौड़ ने CM को लिखा पत्र

निर्मोही अखाड़े के राष्ट्रीय प्रवक्ता महंत सीताराम दास ने कहा कि पीएम मोदी व गृहमंत्री अमित शाह स्वयं महामारी काल में बंगाल व अन्य प्रदेशों में रैलियां आयोजित कर प्रदेश व देश को महामारी में ढकेल रहे हैं. उनको महामारी के चलते चुनाव टाल देने चाहिए थे. मगर वह सनातन परंपरा के प्रतीक कुंभ को विसर्जन करने का आह्वान तो करते हैं, मगर स्वयं चुनावी रैलियां और भीड़ जुटाकर नागरिकों के जीवन से खिलवाड़ (Corona-Effect) कर रहे हैं.

राजस्थान में 3 मई तक ‘जन अनुशासन पखवाड़ा’ जाने क्या रहेगा बंद, क्या खुलेगा?

सीताराम दास ने कहा कि अवधेशानंद गिरी ने 13 अखाड़ों व शंकराचार्यो की राय लिए बगैर प्रधानमंत्री के निर्देश पर कुंभ विसर्जन का ऐलान कैसे कर दिया? कुंभ सनातन संस्कृति व परंपरा के तहत एक नियमित अवधि के लिए आयोजित होता है. वैश्विक महामारी के मद्देनजर आम लोगों का कुंभ में पहुंचने से रोक लगाना तो जायज है. मगर साधू, संतों व संन्यासियों के लिए भी कुंभ विसर्जित करना औचित्यहीन है.