मिताली राज ने किया संन्यास का ऐलान, लिखा ये ख़ास सन्देश

The Fact India: मिताली राज ने दो दशक से लंबे चले अपने क्रिकेट करियर में पूरी तरह राज़ किया. वह भारत में महिला क्रिकेट की पहचान हैं. वनडे में सबसे ज्यादा रन बनाने वाली महिला है. बतौर कप्तान भी सबसे ज्यादा जीत उनके नाम ही है. मिताली कई लड़कियों के लिए प्रेरणा भी है. ऐसे में उनका क्रिकेट से अलविदा कहना बेहद दुःखद है. भारतीय महिला क्रिकेट की रीढ़ कहे जाने वालीं मिताली राज ने इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास ले लिया है. मिताली राज पिछले 23 साल से इंटरनेशनल क्रिकेट खेल रही थी. अब बुधवार को 39 साल की उम्र में उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के सभी फॉर्मेट को अलविदा कहा. मिताली राज (Mithali Raj) ने रिटायरमेंट का ऐलान करते हुए एक इमोशनल लेटर अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर किया.

गहलोत बोले- भाजपा के स्पॉन्सर चंद्रा निर्दलीय बनकर क्यों आए, समझ नहीं आया

मिताली राज (Mithali Raj) ने अपने पत्र में लिखा, “मैं इंडिया की नीली जर्सी पहनने की यात्रा पर एक छोटी लड़की के रूप में निकली, क्योंकि आपके देश का प्रतिनिधित्व करना सर्वोच्च सम्मान है. यात्रा ऊंचाइयों और कुछ चढ़ावों से भरी थी. प्रत्येक घटना ने मुझे कुछ अनोखा सिखाया और पिछले 23 वर्ष मेरे जीवन के सबसे अधिक पूर्ण, चुनौतीपूर्ण और आनंददायक रहे हैं. ऐसे में सभी यात्राओं की तरह, इसे भी समाप्त होना चाहिए.”

गहलोत के मंत्री को लॉरेंस गैंग से धमकी, बाड़े से निकल कर घर हुए रवाना

उन्होंने आगे लिखा, “आज वह दिन है जब मैं अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास ले रही हूं. जब भी मैंने मैदान पर कदम रखा, मैंने भारत को जीतने में मदद करने के इरादे से अपना सर्वश्रेष्ठ दिया. तिरंगे का प्रतिनिधित्व करने के लिए मुझे जो अवसर मिला है, मैं उसे हमेशा संजो कर रखूंगी. मुझे लगता है कि अब मेरे खेलने के करियर से पर्दा उठाने का सही समय है, क्योंकि टीम कुछ बहुत ही प्रतिभाशाली युवा खिलाड़ियों के हाथों में है और भारतीय क्रिकेट का भविष्य उज्ज्वल है.” मिताली राज के पास बतौर कप्तान सबसे ज्यादा जीत दर्ज करने का रिकॉर्ड है. उन्होंने 155 वनडे मैच में कप्तानी की , जिनमे 89 में जीत और 63 में हर मिली.

28 Views