राजस्थान पर मेहरबान मेघ,बरसाती नदियां उफनी, मौसम हुआ सुहावना

The Fact India: सावन के आगमन के साथ ही राजस्थान (Monsoon) को बारिश ने भिगोना शुरु कर दिया है. प्रदेश में बारिश देर से ही सही पर दुरुस्त आई है यानि की पिछले तीन दिनों से प्रदेश में इस सीजन की सबसे अच्छी बारिश हुई है. शनिवार को कोटा, अजमेर, भरतपुर, जोधपुर संभागों में जमकर बारिश हुई है. राजधानी जयपुर में शुक्रवार रात से ही सावन की झड़ी लग गई है. कड़कड़ाती बिजली के साथ बादलों ने मरुधरा की धरा को भिगोया. इसके चलते बरसाती नदियां, नाले उफान पर है. नागौर जिले में गुढ़ा- गोविंदी मारवाड़ स्टेशन के बीच पानी के तेज बहाव से अंडर ब्रिज पर पटरी बह गई. झालावाड़ में कालीसिंध नदी के बहाव के कारण पेयजल पाइप लाइन ही क्षतिग्रस्त हो गई. इसके लिए मुंबई से एक्सपर्ट टीम को बुलाया गया है.

इन संभागों में जमकर बारिश

प्रदेश के चार संभागों में जमकर बारिश (Monsoon) हो रही है. कोटा, अजमेर, भरतपुर, जोधपुर संभागों में बारिश के कारण जन-जीवन अस्त व्यस्त हो रहा है. बरसाती नदियां उफान पर हैं. कालीसिंध नदी के बहाव के कारण झालावाड़ में पेयजल पाइप लाइन ही क्षतिग्रस्त हो गई. पेयजल लाइन को दुरुस्त करने के लिए प्रभारी मुख्य अभियंता सीएम चौहान मौके पर पहुंचे. मौका मुआयना के बाद तय हुआ कि मुंबई से एक्सपर्ट की टीम को बुलाया जाएगा. ताकि कालीसिंध नदी में बिछी पाइप लाइन का रिप्लेसमेंट किया जा सके.

PCC चीफ डोटासरा के पक्ष में उतरे समर्थक, कहा- भाजपा रच रही साजिश

जयपुर में इस सीजन की सबसे ज्यादा बारिश शुक्रवार रात से शुरु हुई बारिश का दौर रुक रुक कर जारी है. जयपुर शहर के अलावा ग्रामीण इलाके चाकसू, नरैणा, मौजमाबाद, सांभर, दूदू, फागी और फुलेरा एरिया में 90 एमएम से ज्यादा पानी बरसा. जयपुर शहर की बात करे तो यहां 85 एमएम बारिश दर्ज हुई है. जो इस सीजन में सबसे ज्यादा है. जयपुर में बारिश के बाद मौसम सुहावना हो गया है.