नेशनल फैमिली हेल्थ सर्वे रिपोर्ट – देश में आबादी बढ़ने की रफ्तार में बड़ी कमी

The Fact India : जनसंख्या घट रही हैं, बढ़ रही है या स्थिर है, इस बात को लेकर लोगों के मन में कई सवाल रहते हैं. हाल ही में, नेशनल फैमिली हेल्थ सर्वे (NFHS) की ताजा रिपोर्ट सामने आई है. जिसमें यह बात सामने आई हैं कि, देश में बच्चे के जन्म की दर में कमी आई है. NFHS की रिपोर्ट (NFHS Report) के अनुसार, देश में बच्चे के जन्म की दर 2.2% से घटकर 2% हो गई है. यानी कुल प्रजनन दर अब कम हो गई हैं. वहीं, देश में बेटियों को लेकर धीरे-धीरे ही सही लेकिन सोच बदल रही है. देश में दो बेटियों वाली 65 फीसदी महिलाएं हैं जिन्हें बेटे की कोई इच्छा नहीं है. नेशनल फैमिली हेल्थ सर्वे-5 की ताजा रिपोर्ट में यह बात सामने आई है.

बिना कार्रवाई के ही शाहीन बाग़ से लौटा बुलडोजर, आप विधायक बोले- अतिक्रमण हम हटा देंगे

गर्भनिरोधक का बढ़ता उपयोग
आपको ये भी बता दें कि, देश में समग्र गर्भनिरोधक प्रसार दर (सीपीआर) 54 प्रतिशत से बढ़कर 67 प्रतिशत हो गई है. लगभग सभी राज्यों/केंद्र शासित क्षेत्रों में गर्भनिरोधक (NFHS Report) के आधुनिक तरीकों का उपयोग भी बढ़ा है. परिवार नियोजन की अधूरी जरूरतें 13 फीसदी से घटकर 9 फीसदी हो गई हैं.

NHFS-5 ने यह भी उल्लेख किया है कि, भारत में संस्थागत जन्म 79 प्रतिशत से बढ़कर 89 प्रतिशत हो गया है. ग्रामीण क्षेत्रों में भी लगभग 87 प्रतिशत जन्म संस्थानों में और शहरी क्षेत्रों में यह 94 प्रतिशत है. अरुणाचल प्रदेश में संस्थागत जन्म में अधिकतम 27 प्रतिशत (NFHS Report) की वृद्धि हुई है. इसके बाद असम, बिहार, मेघालय, छत्तीसगढ़, नागालैंड, मणिपुर, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल में 10 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि हुई. पिछले 5 वर्षों में, 91 प्रतिशत से अधिक जिलों में, 70 प्रतिशत से अधिक जन्म स्वास्थ्य सुविधाओं में हुए हैं.