Naxalite : नक्सली भरोसा जीत कर आदिवासी लड़कियों से कर रहे शादी

The Fact India : यूँ तो सामाजिक जीवन में हर इंसान सुकून भरी जिंदगी जीना चाहता है, लेकिन अंदाजा लगाइये कि उस व्यक्ति की जिंदगी में कितनी पीड़ा होगी जिसकी हर सुबह-शाम डर में ही गुज़रती है। इतना ही नहीं, अगर किसी व्यक्ति को बिना वजह अपनों को खोना पड़े तो यह न केवल चिंता का विषय है बल्कि यह बैठकर मंथन करने वाली बात है कि हम कैसे समाज, कैसे परिवेश और कैसे वातावरण में जिंदगी जीने को मजबूर हैं। पिछले तीन सालों की बात करें तो इस दौरान हुए नक्सली हमलों में हज़ारों लोगों की मौतें हुईं। वहीं अगर सरकार की मानें तो नक्सली (Naxalite) हमलों में धीरे-धीरे कमी आ रही है और नक्सल प्रभावित इलाके लगातार सिमटते जा रहे हैं। नक्सलवादी विचारधारा’ एक आंदोलन से जुड़ी हुई है। 1960 के दशक में कम्युनिस्टों यानी साम्यवादी विचारों के समर्थकों ने इस आंदोलन का आरंभ किया था, जो उत्तरी बंगाल के एक छोटे से गाँव नक्सलबाड़ी से निकली चिंगारी जो आज पूरे विश्व में फ़ैल चुकी है और आज देश के कोने-कोने में नक्सलवाद दिखाई पड़ता है. हर जगह चीन में  हुई क्रांति की तर्ज़ पर हथियारबंद ब़गावत नजर आती है. आज मध्यप्रदेश के बालाघाट में 3 नक्सल कमांडरों के एनकाउंटर के बाद यहां पांव पसार रहा नक्सलवाद एक बार फिर चर्चा में हैं.

Dr. Anish Vyas : जयपुर में 2 जुलाई को होगी अंतर्राष्ट्रीय एस्ट्रोलॉजी कॉन्फ्रेंस

पुलिस ने नक्सलियों (Naxalite) का जो रिकॉर्ड तैयार किया है उसमे पुलिस का मानना हैं कि बालाघाट इलाके में अभी लगभग 100 से 110 नक्सली एक्टिव हैं उसमें कई के फोटो तक पुलिस के पास नहीं हैं। जिनके फोटो हैं वो भी 10 से 20 साल पुराने हैं. लेकिन इस समय पुलिस को नक्सलवादियों को पहचानने में बड़ी समस्या सामने आ रही है क्यूंकि इस समय नक्सली गांव में पैठ बनाने और आदिवासियों का भरोसा जीतने के लिए उनकी बेटियों से शादी भी कर रहे हैं। आपको बता दें कि दो दिन पहले ही एनकाउंटर में जोनल कमांडर नागेश, एरिया कमांडर मनोज और महिला कमांडर रामे तो मारे गए जिसमे 15 नक्सली भागने में कामयाब हो गए थे. मध्यप्रदेश पुलिस रिकॉर्ड में नक्सलियों पर 5 से 10 लाख तक के इनाम भी घोषित किये गए हैं. सरकार के आंकड़े बताते हैं कि 2011 से लेकर 2020 तक 10 सालों में छत्तीसगढ़ में 3,722 नक्सली घटनाएं हुई हैं. इनमें 736 आम लोगों की जानें गई हैं. जबकि 489 जवान शहीद हो गए तो आप देख सकते हैं कि नक्सलवाद देश में कितना बढ़ चुका है और आज नक्सलवादी जान बचाने के लिए आदिवासी लड़कियों को भरोसा दिलाकर शादी कर रहे हैं. 

61 Views

Leave a Reply

Your email address will not be published.