राजस्थान में ऑक्सीजन की किल्लत में राहत की खबर:2 माह में लगाये जायेंगे 60 से ज्यादा प्लांट, सरकार ने दी हरी झंडी

Plant

The Fact India: कोरोना की दूसरी लहर बेहद खतरनाक साबित हो रही है मरीज ऑक्सीजन (Oxygen) के बिना मर रहे है।  इसमें राहत पहुंचाने के लिए  राजस्थान में जल्द ही 60 से अधिक स्थानों पर ऑक्सीजन प्लांट (Plant) लगाये जाने का फैसला किया गया है. यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल ने मंगलवार को देश की कई मेडिकल ऑक्सीजन निर्माता कंपनियों के साथ वर्चुअल बैठक कर इस पर चर्चा की है. उसके बाद कंपनियों ने इसके लिये अपनी सहमति दे दी है.

पिता की चिता में बेटी ने लगाई छलांग:70% तक जली अस्पताल में लड़ रही जिंदगी की जंग

राज्य के 60 विभिन्न स्थानों पर अगले दो महिनों में ये ऑक्सीजन प्लांट बनकर तैयार हो जाएंगे. इससे काफी हद तक ऑक्सीजन की डिमांड पूरी की जा सकेगी. आपदा के समय में ऑक्सीजन प्लांट लगाने वाली कंपनियों को राज्य सरकार की ओर से कई रियायतें दी जा रही हैं. इससे कंपनियों को भी अच्छा खासा फायदा होगा. कंपनियों के निवेश में होने वाली राशि में कमी आएगी. महामारी को देखते हुए राज्य के जिला हॉस्पिटलों में 100, 150 और 300 सिलेंडर प्रतिदिन की क्षमता वाले तथा जयपुर व अन्य बड़े शहरों 800 से 1000 सिलेंडर क्षमता वाले ऑक्सीजन प्लांट लगाए जायंगे.

महामारी की दूसरी लहर को देखते हुए ऑक्सीजन प्लांट स्थापित करने एवं इसकी सहायक सामग्री क्रय करने के लिए नगरीय निकायों एवं अन्य संस्थाओं को आरटीपीपी एक्ट- 2012 एवं नियम 2013 के प्रावधानों में राज्य सरकार की ओर से पूर्णतया छूट प्रदान की गई है. इसके आदेश पहले से ही जारी किये जा चुके हैं. इसमें स्वास्थ्य विभाग एवं नेशनल हेल्थ मिशन की ओर से प्रदेश के विभिन्न स्थानों पर ऑक्सीजन प्लांट लगवाये जाने के आदेश दिए गए हैं.