अब BJP MLA ने भी वैक्सीन की अलग-अलग कीमत को लेकर उठाया सवाल, कह दी ये बड़ी बात

The Fact India: वैक्सीनेशन की अलग-अलग कीमत को लेकर सियासत गर्माती जा रही है. विपक्ष के नेताओं के साथ-साथ अब भाजपा नेताओं ने भी राज्य सरकार, केंद्र सरकार और निजी अस्पतालों को अलग-अलग कीमत पर वैक्सीन देने को लेकर सवाल (Vaccine Price) खड़े कर रहे हैं. उत्तर प्रदेश के गोरखपुर से भाजपा विधायक राधा मोहन दास अग्रवाल ने सेरम इंस्टीट्यूट इंडिया के सीईओ आदर पूनावाला को डकैतों से भी बदतर बताया है.

विधायक ने एक ट्वीट के जरिए कहा कि वैक्‍सीन कोविशील्‍ड को जिन कीमतों पर भारत सरकार, राज्‍य सरकार और आम नागरिकों को उपलब्‍ध कराने की बात कही गई है उसमें बड़ी विसंगति है. बीजेपी विधायक ने सेरम इंस्टीट्यूट इंडिया के सीईओ आदर पूनावाला को कहा है कि तुम तो डकैतों से भी बदतर हो. सरकार को तुम्हारी फैक्टरी का एपिडेमिक ऐक्ट में अधिग्रहण (Vaccine Price) कर लेना चाहिए.

मोदी ने रद्द किया अपना प्रस्तावित बंगाल दौरा, कोरोना पर कल करेंगे बैठक

पेशे से चिकित्सक डॉ राधा मोहन दास अग्रवाल ने अगले ट्वीट में लिखा है कि भारत सरकार को यह वैक्‍सीन दो सौ रुपए, राज्‍य सरकार को चार सौ और जनता को छह सौ रुपए में दी जाएगी. कंपनी ने वैक्‍सीन की लागत 220 रुपए बताई है. जब कंपनी भारत सरकार को 200 रुपए में वैक्‍सीन दे सकती है तो जनता को छह सौ रुपए में क्‍यों देगी? क्‍या इस संकट काल में वैक्‍सीन से कमाई की सीमा नहीं तय होनी चाहिए?

पीएम मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, भाजपा के राष्‍ट्रीय संगठन महासचिव बीएल संतोष और स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री हर्षवर्धन को टैग करते हुए उन्‍होंने लिखा कि ऐसी फैक्‍ट्री का एपिडेमिक ऐक्ट में अधिग्रहण कर लेना चाहिए. विधायक ने कहा कि संकट काल में आखिर इन्‍हें कितना प्राफिट मार्जिन चाहिए?