गहलोत के मंत्रियों को अब बेरोजगार गुजरात की चुनावी सभा में घेरेंगे

The Fact India: राजस्थान की परिक्षा से पहले सूबे के रहनुमाओं के सामने सबसे बड़ी चुनौती गुजरात चुनाव की है. अब इस चुनौती को सूबे के बेरोजगारों ने और बढ़ाने की तैयारी कर ली है. अब राजस्थान के बेरोजगार सूबे की अशोक गहलोत सरकार के मंत्रियों और विधायकों के नाक में दम करने को तैयार हैं. वो भी पड़ोसी सूबे गुजरात में. दरअसल राजस्थान के कांग्रेस के कई बड़े नेताओं को गुजरात चुनाव में जिम्मेदारी दी गई है. लिहाजा बेरोजगारों की आवाज उठाने वाले नेता उपेन यादव (Gehlot-Upen) ने घोषणा की है कि गुजरात में लगाए गए कांग्रेस पर्यवेक्षकों के सामने प्रदेश के बेरोजगार युवा धरना-प्रदर्शन करेंगे. उपेन यादव ने गहलोत सरकार पर लखनऊ समझौते की पालना नहीं करने का आरोप लगाया है.

G-6 MLA की बढ़ी नाराजगी! अब वाजिब बोले- मंत्रियों से काम करवाना तो दूर मिलना भी मुश्किल

उपेन यादव ने कहा कि सीएम गहलोत (Gehlot-Upen) से मिलने का समय मांगा गया था, लेकिन मुख्यमंत्री कार्यालय के अधिकारियों ने समय नहीं दिया है. अधिकारियों और मंत्रियों ने भी मिलने से इंकार कर दिया है. ऐसे में बेरोजगार युवा गुजरात विधानसभा चुनाव में राजस्थान के लगाए गए चुनावी पर्यवेक्षकों के सामने अपनी मांगों के लिए विरोध- प्रदर्शन करेंगे.

उपेन यादव की मांग है कि युवा बेरोजगार आयोग बनाया जाए. लंबे समय से जिन विभागों में भर्ती नहीं हुई, उनमें भर्ती निकाले. साथ ही कई भर्तियों में बहुत कम पदों पर भर्तियां की जा रही हैं, उनमें भी पदों की संख्या में बढ़ोतरी करे. बेरोजगारों का कहना है कि वे सालों से भर्तियों का इंतजार कर रहे हैं, लेकिन अभी तक न तो भर्ती की विज्ञप्ति का पता है और न ही परीक्षा की तिथि का. जबकि पंचायती राज जेईनए की प्रदेश में भर्ती निकाले 13 सालों का समय बीत चुका है। प्रदेश के बेरोजगार परेशान हो चुके हैं.

196 Views

Leave a Reply

Your email address will not be published.