खुला RTE की लॉटरी का पिटारा, गरीब बच्चों का होगा निजी नामचीन स्कूलों में मुफ्त एडमिशन

The Fact India: राजस्थान में इस साल कोरोना के चलते देर से ही सही लेकिन RTE के लॉटरी का पिटारा खुल ही गया. इस साल भी प्रदेश के लाखों गरीब बच्चे नामचीन स्कूलों में ना सिर्फ एडमिशन ले सकेंगे बल्कि पूरी शिक्षा मुफ्त प्राप्त कर पाएंगे. शिक्षा मंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने बुधवार को शिक्षा के अधिकार के तहत शिक्षा संकुल में लॉटरी निकाली गई.

इस्तीफे के सवाल पर बोले धारीवाल, गहलोत जिस दिन कहेंगे छोड़ दूंगा मंत्री

इस दौरान डोटासरा ने कहा कि हम शिक्षा के स्तर को सुधारने के लिए संकल्पित हैं. प्रदेश में बड़े स्तर पर शिक्षकों की भर्ती हो रही है. डोटासरा ने कहा कि शिक्षा के अधिकार के तहत गैर-सरकारी विद्यालयों में नि:शुल्क (RTE) सीट्स पर प्रवेश के लिये आज ऑनलाइन लॉटरी निकाली गई. शिक्षा का अधिकार गरीब एवं दुर्बल वर्ग के बच्चों को नि:शुल्क शिक्षा के साथ समान योग्यता हासिल करने का अवसर देता है.

राजस्थान में आयकर विभाग की छापेमारी, कई ठिकानों पर चल रही जांच

शिक्षा विभाग के अनुसार गैर सरकारी विद्यालयों में आरटीई के तहत नि:शुल्क सीट्स के लिये लॉटरी की सूची जारी कर दी गई है. राज्य में नि:शुल्क सीटों के लिये पात्र विद्यालयों की संख्या 36478 है. इनमें से 25475 स्कूलों के लिये आवेदन प्राप्त हुये थे. 11003 स्कूलों के लिये एक भी आवेदन नहीं आया था.