पूनिया को धरियावद में मिली बड़ी सफलता, बागी Kanhaiya Lal को मनाने में रहे कामयाब

The Fact India: वल्लभनगर और धरियावद सीट पर उपचुनाव के दंगल में भाजपा और कांग्रेस पूरी तरह उतर चुकी है. भाजपा को धरियावद सीट पर प्रमुख बागी कन्हैया लाल मीणा (Kanhaiya Lal) को पार्टी प्रत्याशी के पक्ष में मनाने में बड़ी सफलता मिली है. पार्टी प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया के निर्देश पर नाराज कन्हैया लाल मीणा को प्रदेश संगठन में प्रदेश मंत्री की जिम्मेदारी दी गई है. जिसके बाद अब माना जा रहा है कि मीणा 13 अक्टूबर को उपचुनाव से अपना नामांकन वापस ले लेंगे.

उपचुनाव के लिए कांग्रेस ने जारी की स्टार प्रचारकों की लिस्ट, गहलोत, पायलट डोटासरा का नाम

दरअसल धरियावद सीट से दिवंगत विधायक गौतम मीणा के पुत्र कन्हैया लाल मीणा (Kanhaiya Lal) का टिकट लगभग फाइनल था. कन्हैया लाल मीणा ने नामांकन की तैयारी के लिए 600 से ज्यादा गाड़ियों के काफिले और अन्य तैयारियां पूरी कर ली थी. लेकिन अंतिम समय में कन्हैया लाल मीणा का टिकट कट गया. पार्टी ने खेत सिंह मीणा को उम्मीदवार बना दिया.

जयपुर के फेयरमोंट होटल पर आयकर विभाग का छापा, महाराष्ट्र के डिप्टी CM के घर पर पड़े छापों से लिंक

गौतम लाल मीणा वसुंधरा राजे गुट के हैं और राजे चाहती थीं कि कन्हैयालाल मीणा को टिकट मिले. लेकिन पार्टी ने उनकी नहीं मानी. जिसके बाद कन्हैया लाल ने निर्दलीय ही परचा भर दिया. क्षेत्र में सहानुभूति की लहर भी उनके पक्ष में थी. लिहाजा ऐसे में भाजपा को नुक्सान उठाना पड़ सकता था. लेकिन अब कन्हैयालाल मीणा को मनाने में भाजपा कामयाब रही है. हालांकि वल्लभनगर में भाजपा के लिए राहें अब भी बेहद कठिन है.