राजस्थान पुलिस हुई मॉब लिचिंग का शिकार, भीड़ ने पुलिसकर्मियों को जमकर पीटा

द फैक्ट इंडिया ब्यूरो।  राजस्थान के अलवर जिले से एक बार फिर मॉब लिचिंग का एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है. जिले के मुंडावर थाना क्षेत्र में पुलिस ही मॉब लिचिंग की शिकार बन गई. जानकारी के मुताबिक हिंसक भीड़ ने दो पुलिसकर्मियों की जमकर धुनाई कर डाली. ग्रामीणों का आरोप है कि पुलिसकर्मी शराब के नशे में धुत होकर पारिवारिक विवाद का निपटारा करने आए थे. मारपीट में घायल हुए दोनों पुलिसकर्मियों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

उत्तर प्रदेश में खत्म हुआ मंत्रियों का टैक्स राजकोष से भरने का नियम

शराब के नशे में थे पुलिसकर्मी

जानकारी के मुताबिक यह घटना मुंडावर के जागीवाड़ा गांव की है. बताया जा रहा है कि शुक्रवार रात सर्किल गश्त के दौरान भिवाड़ी पुलिस कंट्रोल रूम से सूचना मिली थी कि जागीवाड़ा गांव में  दो महिलाओं को उनके ससुराल में बंधक बनाकर मारपीट की जा रही है. इसकी सूचना मिलने पर उप-निरीक्षक रामस्वरूप और कॉन्स्टेबल शिवरतन समेत 3-4 पुलिसकर्मी गांव में गए. इसी दौरान महिलाओं के पीहर पक्ष के लोग भी वहां पहुंच गए. ग्रामीणों का आरोप है पुलिसकर्मी शराब के नशे में धुत थे और जबरन महिलाओं को ले जाने की कोशिश कर रहे थे. ग्रामीणों ने कहा कि महिला पुलिसकर्मी के बिना वो महिलाओं को नहीं भेजेंगे. यह सुनकर पुलिसकर्मी उनसे उलझ पड़े.

आयुष्मान भारत योजना को लेकर सीएम गहलोत ने पीएम मोदी को लिखा पत्र

अस्पताल में चल रहा ईलाज

ग्रामीणों के मुताबिक एक पुलिसकर्मी के मुंह से शराब की बदबू आने पर लोगों ने उसे पकड़ लिया. अपने सहयोगी को बचाने की कोशिश कर रहे उप-निरीक्षक रामस्वरूप और कॉन्स्टेबल शिवरतन की तब भीड़ ने जमकर पीट डाला. घायल पुलिसकर्मियों का कहना कि ग्रामीणों ने उन्हें पीहर पक्ष के साथ आने और जबरन दबाव बनाकर महिलाओं को ले जाने की बात समझकर पिटाई कर दी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.